सामान्य मरीजों के साथ 2 घंटे भर्ती रहा कोरोना संक्रमित, हालत बिगड़ने पर रेफर किया, मौत

|

Updated: 12 May 2020, 12:25 PM IST

कोरोना से एक जने की मौत हो गई। मृतक सांचौर के निकट भड़वल का रहने वाला था।

जालोर। जिले में कोरोना से एक जने की मौत हो गई। मृतक सांचौर के निकट भड़वल का रहने वाला था। मुंबई से भड़वल आए इस व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ के बाद एंबुलेंस जालोर रेफर किया था। वहां आंखों के अस्पताल में बने सामान्य वार्ड में इस मरीज को करीब दो घंटे रखा गया। इसके बाद हालत ज्यादा बिगड़ने पर मरीज को बिना सैंपल लिए ही जोधपुर रेफर कर दिया।

जोधपुर में हुई मौत
जोधपुर पहुंचते ही मरीज की रविवार को मौत हो गई। लेकिन संदिग्ध होने और शव गांव भेजने से पहले मृतक की कोरोना जांच की गई। जिसके बाद मृतक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। मृतक के परिजनों और संपर्क में आने वाले सभी को आइसोलेट कर सैंपल लिए गए हैं। गांव में कर्फ्यू लगा दिया गया है। जालोर जिले में अब तक 15 कोरोना रोगी मिले हैं। 15 में से 14 रोगी बाहरी शहर व राज्यों से आए हैं।

पाली जिले में दो लोगों की मौत
पाली जिले में कोरोना के कहर से सोमवार को दो मौत हो गई। एक जने की मौत के बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई, जबकि एक जना पॉजिटिव था और उसका जोधपुर में उपचार चल रहा था। इसके बाद प्रशासन की ओर से मंडिया गांव में कर्फ्यू लगा दिया। इधर, रविवार रात नारलाई में मिले एक पॉजिटिव के बाद वहां भी कर्फ्यू लगाकर आस-पास के गांवों को बफर जोन घोषित कर दिया गया।

कोरोना जैसे कोई लक्षण नहीं थे
पाली शहर के जंगीवाड़ा में एक व्यक्ति का सैम्पल पॉजिटिव आने पर उसे बांगड़ चिकित्सालय में भर्ती किया गया था। वहां उसकी दो दिन पहले रात में तबीयत खराब होने पर जोधपुर रैफर किया गया। जहां उपचार के दौरान उसकी सोमवार को मौत हो गई। जबकि मंडिया गांव में आठ मई को एक युवक मुम्बई से 16 लोगों के साथ वाहन से गांव आया था।

उसमें कोरोना जैसे कोई लक्षण नहीं थे। उसकी रविवार को अचानक तबीयत बिगड़ी और मौत हो गई। इस पर चिकित्सा विभाग की ओर से उसका शव बांगड़ चिकित्सालय में रखवाया गया और कोरोना जांच करवाई गई। जिसकी रिपोर्ट सोमवार को आई, जिसमें वह पॉजिटिव आया। इस पर गांव को सील कर दिया गया।