पुलिस को चकमा देकर गायब हो गए पूर्व DGP, छामामारी जारी

|

Published: 11 Sep 2020, 07:06 PM IST

चंडीगढ़, शिमला, दिल्ली और पैतृक गांव में पहुंची पंजाब पुलिस

आईएएस के बेटे की अपहरम और हत्या में वांछित, जमानत याचिका खारिज

चंडीगढ़। पंजाब पुलिस के पूर्व महानिदेशक सुमेध सिंह सैनी पर इस समय आफत है। वे आईएएस अधिकारी के बेटे बलवंत सिंह मुल्तानी के अपहरण और हत्या के मामले में वांछित हैं। अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। इससे पूर्व पंजाब पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए जी-तोड़ प्रयास कर रही है। वे पुलिस को चकमा देकर गायब हो गए हैं।

चंडीगढ़ में आवास और गांव में छापा

पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को उनके चंडीगढ़ के सेक्टर-10 के मकान नंबर 13 और उनके होशियारपुर स्थित पैतृक गांव ख़ुदा कराला में छापा मारा। घर पर सैनी नहीं मिले। उनका घर बंद मिला। पुलिस उनके और संभावित ठिकानों पर भी छापामारी कर रही है। पंजाब पुलिस की टीम ने वीरवार को सैनी की तलाश में दिल्ली और शिमला स्थित उनके ठिकानों पर छापामारी की थी। पुलिस का कहना है कि सैनी की पत्नी और बेटी दिल्ली के पंचशील स्थित घर पर मौजूद हैं, परंतु सैनी वहां नहीं मिले। सैनी की पत्नी का कहना है कि 22 अगस्त के बाद से सैनी से उनका संपर्क भी नहीं हुआ। सैनी के शिमला स्थित आवास पर भी पुलिस को उनके नौकर ही मिले।

जमानत याचिका खारिज

गौरतलब है कि पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने मंगलवार को सैनी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है। उसके बाद से ही पुलिस सैनी को गिरफ्तार करने के लिए लगातार छापामारी कर रही है। मोहाली की जिला अदालत ने एक सितम्बर को सैनी की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। तब से 11 दिन हो गए हैं, लेकिन पुलिस सुमेध सिंह सैनी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।