‘Ashok Gehlot सरकार बताए, क्या उन्होंने अपराधियों के सामने हथियार डाल दिए हैं?’: Vasundhara Raje

|

Updated: 04 Jul 2020, 09:17 AM IST

- Vasundhara Raje का तीन घटनाओं पर तीन ‘प्रहार’, महिला अपराधों-अत्याचारों की तीन घटनाओं पर जताई नाराजगी, सरकार पर साधा निशाना, किए तीन सवाल, CM Ashok Gehlot के गृह विभाग की कार्यशैली पर साधा निशाना

 

जयपुर।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ( Vasundhara Raje ) ने प्रदेश की कानून व्यवस्था के मामले में एक बार फिर गहलोत ( Ashok Gehlot ) सरकार पर निशाना साधा है। खासतौर से पिछले कुछ दिनों में एक के बाद एक हुए महिला अपराधों का ज़िक्र करते हुए उन्होंने सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़े किये हैं। राजे ने एक बयान के ज़रिये सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए पूछा कि क्या सरकार ने अपराधियों के सामने हथियार डाल दिए हैं?

तीन घटनाओं का दिया हवाला
राजे ने हाल के दिनों में महिला अत्याचारों से जुडी तीन घटनाओं का ज़िक्र करते हुए सरकार का ध्यान खींचा। उन्होंने अलवर के थानागाजी में पति के सामने पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म व मारपीट, दौसा में मजदूर मां को खाना देने जा रही बच्ची का अपहरण करके सामूहिक दुष्कर्म और जोधपुर के फलौदी में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म कर वीडियो वायरल करने के तीन मामलों का ज़िक्र किया।

राजे के तीन सवाल
राजे ने प्रदेश में बढ़ते महिला अत्याचारों के तीन मामलों का ज़िक्र करते हुए तीन सवाल भी दागे। आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर बयान जारी करते हुए सरकार से तीन सवाल किये-

- राज्य की कांग्रेस सरकार जवाब दे कि राजस्थान में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध पर अंकुश क्यों नहीं लग रहा है?
- डेढ़ साल पहले तक शांति टापू के रूप में प्रसिद्ध हमारा प्रदेश अब अपराध का अड्डा क्यों बन गया है?
- क्या सरकार ने वास्तव में अपराधियों के सामने हथियार डाल दिए हैं?

गौरतलब है कि प्रदेश में गृह मंत्री का अतिरिक्त जिम्मा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत संभाल रहे हैं। लिहाजा पूर्व मुख्यमंत्री राजे समय-समय पर कानून व्यवस्था के मामले को कटघरे में रखते हुए सीधे मुख्यमंत्री गहलोत के महकमें को कटघरे में रखती रहीं हैं।