राजस्थानः खबर चौंकाने वाली लेकिन सुखद, सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे अफसर-डॉक्टर-विधायकों के बच्चे

|

Published: 12 Jul 2021, 04:54 PM IST

खबर चौंकाने वाली लेकिन सुखद है। राज्य में कई आइएएस-आरजेएस अफसरों और डॉक्टरों-विधायकों के बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ने के लिए एडमिशन की लम्बी कतार में लगे हैं।

विजय शर्मा/ जयपुर। खबर चौंकाने वाली लेकिन सुखद है। राज्य में कई आइएएस-आरजेएस अफसरों और डॉक्टरों-विधायकों के बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ने के लिए एडमिशन की लम्बी कतार में लगे हैं। राज्य में एक सीट पर औसतन 2 और जयपुर में औसतन 20 गुना अधिक आवदेन के कारण एडमिशन के लिए सिफारिशें तक लगाई जा रही हैं।

यह बदलाव सरकारी अंग्रेजी स्कूलों के कारण आया है। जयपुर शहर सहित कई जिलों में तो कुछ अफसरों-जन प्रतिनिधियों के बच्चे पहले से इन स्कूलों में पढ़ रहे हैं। इन स्कूलों में सर्वाधिक संख्या शिक्षा विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों के बच्चों की है। इनमें शिक्षा अधिकारी, व्याख्याताओं के बच्चे भी शामिल हैं। वर्तमान में एडमिशन के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं।

यह है कारण
कोरोना काल में शिक्षा क्षेत्र में बड़ा बदलाव देखने को मिला है। निजी स्कूलों की मनमानी बढ़ी है। फीस को लेकर विवाद भी बढ़ रहे हैं। फीस को लेकर विवाद भी बढ़ रहे हैं। फीस नहीं देने पर स्कूल और ऑनलाइन क्लास से निकाला जा रहा है। वर्तमान में ऑनलाइन पढ़ाई जारी है। शिक्षा विभाग भी बच्चों को ऑनलाइन पढ़ा रहा है।

सबसे ज्यादा आवेदन पहली कक्षा के लिए
सरकारी अंग्रेजी स्कूलों में प्रवेश के लिए सर्वाधिक लम्बी कतार जयपुर जिले हैं। यहां पहली से आठवीं तक कक्षा की कुल 1678 सीटों पर 9256 आवेदन आ चुके हैं। सर्वाधिक 3400 से अधिक आवेदन पहली कक्षा के लिए आए हैं जबकि सीटें 780 ही हैं।

बानगीः अफसरों-जनप्रतिनिधियों ने कराया अपने बच्चों का एडमिशन
जयपुर के गांधीनगर स्कूल में आइएएस अधिकारी रवीन्द्र गोस्वामी की बेटी आर्तिका और आरेएस अरविंद कुमार की बेटी गरिमा, प्रतापगढ़ के स्कूल में विधायक रामलाल मीणा के बेटी कुंजन, पाली के स्कूल में डॉक्टर रामलाल मीणा के परिवार से एक बच्चा, बीकानेर में आरजेएस अधिकारी ने भी कराया बच्चे का एडमिशन, जयपुर के गांधीनगर स्कूल में व्याख्याता कमल किशोर की बेटी रूही, व्याख्याता शारदा मीणा के बेटे व बेटी का प्रवेश।

राज्यः आवेदन स्थिति
कक्षा-------सीटें-------आवेदन
पहली------8,122-----17,136
दूसरी-8वीं---8,893-------23,633
कुल--------17,015------40,769

जयपुर शहर की स्थिति
स्कूल---------सीटें--------आवेदन
मानसरोवर----44----------878
आदर्शनगर----75----------1667
गांधीनगर-------37---------1100
झोटवाड़ा-------111--------2954
सांगानेर सि.-----54--------299

जयपुर जिले में आवेदनों की स्थिति
कक्षा---------सीटें----------आवेदन
पहली--------780----------3,143
दूसरी---------51-----------713
तीसरी--------128---------1,062
चौथी----------86----------903
पांचवी--------82----------816
छठवीं--------224---------1,166
सातवीं-------155---------767
आठवीं-------172---------686
कुल----------1678---------9,256


सरकारी स्कूलों में नामांकन बढ़ रहा है। खास तौर से महात्मा गांधी अंग्रेजी स्कूलों के प्रति रुझान दिख रहा है। स्कूलों में सरकारी अधिकारी और कर्मचारी भी बच्चों का एडमिशन करा रहे हैं।
सौरभ स्वामी, माध्यमिक शिक्षा निदेशक