विधानसभा में 25 जनवरी को आ सकता है सीएए के खिलाफ प्रस्ताव

|

Published: 23 Jan 2020, 07:13 PM IST

कांग्रेस ने अपने विधायकों के लिए किया व्हिप जारी, 24 और 25 जनवरी को सदन में मौजूद रहने के निर्देश

जयपुर। 24 जनवरी से शुरू हो रहे 15 वीं विधानसभा के चौथे सत्र के दौरान केरल और पंजाब की तर्ज पर यहां भी सीएए के खिलाफ प्रस्ताव लाने की तैयारी सत्तारुढ़ कांग्रेस ने शुरू कर दी है। सूत्रों की माने तो 25 जनवरी को सीएए के खिलाफ सदन में प्रस्ताव लाया जा सकता है।

इसके लिए कांग्रेस अपने विधायकों को 24 और 25 जनवरी को पूरे समय सदन में मौजूद रहने के निर्देश दिए हैं। सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने व्हिप जारी किया है। वहीं गुरूवार को डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने भी 25 जनवरी को कांग्रेस शासित राज्यों की तर्ज पर विधानसभा में सीएए के खिलाफ प्रस्ताव लाने की बात कही।

इससे पहले 24 जनवरी से शुरू हो रहे विधानसभा के बजट-सत्र के पहले दिन की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण से होगी। राज्यपाल के अभिभाषण के बाद विधानसभा-लोकसभा चुनावों में अनुसूचित जाति और जनजाति आरक्षण को 10 साल बढ़ाने के संकल्प को पारित किया जाएगा। उसके बाद 25 जनवरी को सीएए के खिलाफ प्रस्ताव लाने की तैयारी है। व्हिप का उल्लंघन करने वाले विधायकों पर अनुशसनात्मक कार्रवाई की जाएगी।


विधानसभा के बजट-सत्र को लेकर सरकार में जोरशोर से तैयारियां चल रही हैं। राज्यपाल के अभिभाषण के लिए कैबिनेट मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता वाली कैबिनेट सब कमेटी इसे पूरा करने में जुटी हुई है। इस अभिभाषण में सरकार के एक साल की प्रमुख उपलब्धियों को समाहित किया जा रहा है। इस सत्र में फरवरी में राज्य का बजट आने के बाद मार्च के दूसरे सप्ताह तक वह पारित हो जाएगा। वहीं विपक्षी पार्टी बीजेपी राज्य सरकार को विधानसभा में घेरने की तैयारी में जुटी है।