अल्पसंख्यकों की नाराजगी भुनाने की जुगत में भाजपा, मिशन-8 पर काम शुरू

|

Published: 07 Nov 2020, 02:19 PM IST

हैरिटेज नगर निगम में अपना महापौर बनाने के लिए भाजपा ने मशक्कत शुरू कर दी है। भाजपा के पास अभी यहां 42 पार्षद हैं और उसे बहुमत के लिए 51 के आंकड़े की आवश्यकता है।

जयपुर। हैरिटेज नगर निगम में अपना महापौर बनाने के लिए भाजपा ने मशक्कत शुरू कर दी है। भाजपा के पास अभी यहां 42 पार्षद हैं और उसे बहुमत के लिए 51 के आंकड़े की आवश्यकता है। इस अंक से भाजपा 8 अंक दूर है, निर्दलीय जीतने वाली कुसुम यादव महापौर प्रत्याशी बनाए जाने से भाजपा के साथ हो चुकी हैं।

अभी तक की स्थिति के अनुसार परकोटे के अधिकांश निर्दलीय कांग्रेस खेमे में जाते हुए नजर आ रहे हैं, लेकिन भाजपा भी अब निर्दलीयों से संपर्क साधने में जुट गई है। वहीं भाजपा हैरिटेज में कांग्रेस की ओर से मुस्लिम प्रत्याशी नहीं बनाए जाने पर उपजी नाराजगी का फायदा उठाने की जुगत में है। सूत्रों के अनुसार भाजपा ने अपने शेष आंकड़े मिशन-8 को पूरा करने की जिम्मेदारी अपने वरिष्ठ नेताओं को सौंपी है।

हैरिटेज प्रभारी वासुदेव देवनानी के नेतृत्व में जयपुर शहर परकोटे से जुड़े पूर्व विधायक मोहनलाल गुप्ता, राजसमंद सांसद दीयाकुमारी सहित अन्य कुछ नेता इस मिशन में जुटे हैं। सूत्रों के अनुसार भाजपा ने निर्दलीयों में से 8 से 10 पार्षद चिन्हित किए हैं, जिनके लिए पार्टी मान रही है कि कोशिश करने और अल्पसंख्यक वर्ग की कांग्रेस से उपजी नाराजगी के चलते वे भाजपा के साथ हो सकते हैं।

रूठों को मनाने की कोशिशें शुरू
जयपुर ग्रेटर से महापौर पद के लिए सौम्या गुर्जर को प्रत्याशी बनाए जाने के बाद भाजपा की अंदरूनी सियासत गर्मा गई है। एक दिन पहले पूर्व महापौर शील धाभाई के समर्थकों ने नारेबाजी की थी, वहीं विधायकों ने भी नामांकन से दूरी बना ली थी। अब भाजपा की चिंता धाभाई को मनाने की है। यहां सुखप्रीत बंसल और रश्मि सैनी भी दावेदार थी।