देश में 85 लाख टन सरसों उत्पादन का अनुमान: अनिल चतर

|

Published: 08 Mar 2021, 09:17 AM IST

देश में इस साल सरसों की पैदावार ( mustard yield ) 85 लाख टन होने का अनुमान है। गत वर्ष देश में 76 लाख टन सरसों ( mustard ) का उत्पादन हुआ था। वर्तमान में देश भर की उत्पादक मंडियों ( Productive markets ) में सरसों की दैनिक आवक करीब 8 लाख बोरी प्रतिदिन हो रही है। अभी किसान सरसों की कटाई ( mustard harvesting ) में लगा हुआ है। फिलहाल मौसम बहुत अनुकूल है। यदि ऐसा ही मौसम रहा तो आवक बढ़कर 11 लाख बोरी को पार कर सकती है।

जयपुर। देश में इस साल सरसों की पैदावार 85 लाख टन होने का अनुमान है। गत वर्ष देश में 76 लाख टन सरसों का उत्पादन हुआ था। वर्तमान में देश भर की उत्पादक मंडियों में सरसों की दैनिक आवक करीब 8 लाख बोरी प्रतिदिन हो रही है। अभी किसान सरसों की कटाई में लगा हुआ है। फिलहाल मौसम बहुत अनुकूल है। यदि ऐसा ही मौसम रहा तो आवक बढ़कर 11 लाख बोरी को पार कर सकती है। मरुधर ट्रेडिंग एजेंसी के एमडी अनिल चतर ने कहा कि वर्तमान में सरसों की पाइपलाइन खाली है तथा सरसों का पुराना स्टॉक लगभग नगण्य रह गया है। राजस्थान की मंडियों में लूज सरसों 4800 से 5100 रुपए प्रति क्विंटल चल रही है। वहीं सरसों मिल डिलीवरी 42 प्रतिशत तेल कंडीशन के भाव 5550 रुपए प्रति क्विंंटल के आसपास बने हुए हैं। इस बीच विदेशी तेल खासकर सोया एवं पाम के भाव अब तक के सबसे ऊंचे भाव पर बने हुए हैं। इसे देखते हुए सरसों में मंदी के आसार नहीं लगते। वर्तमान में सरसों का एमएसपी 4650 रुपए प्रति क्विंंटल है। मंडियों में सरसों एमएसपी से काफी ऊंची बिक रही है। सरसों में तेल की मात्रा पिछले साल की तुलना में एक फीसदी अधिक है। चतर ने बताया कि इस साल सरसों में तेल की मात्रा 40 से 43 प्रतिशत तक है।

देश में सरसों का उत्पादन
प्रदेश पैदावार
राजस्थान 35.00
मध्य प्रदेश 8.50
उत्तर प्रदेश 13.50
पंजाब, हरियाणा 9.50
गुजरात 4.00
अन्य राज्य 14.50
अनुमानित आंकड़े लाख टन में