व्यापारी और पेप्पीको कंपनी के एजेंट पर फायर कर रुपए लूटने वाले बदमाश गिरफ्तार

|

Published: 15 Apr 2021, 09:26 PM IST

रामनगरिया और श्याम नगर में फायरिंग कर लूटे थे रुपए

रामनगरिया थाना पुलिस ने व्यापारी सचिन जैन और श्याम नगर में पेप्सीको कंपनी के एजेंट पर फायर कर लाखों रुपए लूटने वाले सरगना सहित चार बदमाशों को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने उनके कब्जे से देशी पिस्टल, देशी कट्टा और तीन जिंदा कारतूस बरामद किया हैं। इस पूरे मामले की साजिश पैरोल पर चल रहे आरोपी दिनेश दीक्षित ने रची थी।
डीसीपी (पूर्व) अभिजीत सिंह ने बताया कि रामनगरिया थाना इलाके में सरकारी स्कूल के पीछे 4 अप्रेल को अज्ञात हमलावरों ने व्यापारी सचिन जैन पर रात साढ़े आठ बजे गाड़ी में बैठते समय गोली मार दी थी ,जिससे वह घायल हो गए थे। पुलिस मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश कर रही थी। पुलिस ने इस मामले में गुमान हाईट्स, पत्रकार कॉलोनी मानसरोवर निवासी दिनेश दीक्षित (61) पुत्र रामेश्वर लाल, सौहेल उर्फ चिन्टू (30) पुत्र दिनेश दीक्षित, गोविंदपुरी नई दिल्ली निवासी मंसूर आलम उर्फ वासु (36) पुत्र ईनायत आलम और अमर कॉलोनी दिल्ली निवासी इन्द्रजीत सिंह उर्फ रिक्की (41) पुत्र राजेन्द्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

हथियार किए बरामद-
पुलिस ने बताया कि बदमाशों ने देशी पिस्टल से व्यापारी सचिन जैन और पेप्सीको कंपनी के एजेंट विपुल गर्ग पर फायर किए थे। पुलिस ने उनके कब्जे से देशी पिस्टल, देशी कट्टा और तीन जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। एक मिस फायर खाली कैस बरामद किया जा चुका हैं। पुलिस अब वारदात के समय काम में ली गई कार और बाइक को जब्त करने का प्रयास कर रही हैं।

तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद बेटे और साथी के साथ रची साजिश-
पुलिस ने बताया कि आरोपी दिनेश दीक्षित नई दिल्ली के तिहाड़ जेल में एक मर्डर के मामले में सजायाफ्ता हैं। जो 6 जुलाई 2020 से पैरोल पर चल रहा हैं। आरोपी दिनेश दीक्षित की मुलाकात इस दौरान मंसूर आलम जो कि दिल्ली का रहने वाला है, से हुई। पैरोल पर आने के बाद आरोपी दिनेश ने साजिश रचकर अपने पुत्र सौहेल उर्फ चिन्टू और मंसूर अली को जयपुर में लूट की वारदात करने के लिए तैयार किया। दिनेश द्वारा अपने पुत्र सौहेल को हथियार उपलब्ध करवाए। आरोपी दिनेश जो कि व्यापारी सचिन जैन को जानता था तथा पूर्व में सचिन जैन के साथ प्रोपर्टी का काम कर चुका हैं। ने सचिन जैन को हथियार के बल पर लूटने की योजना बनाई।

दिल्ली से बुलाया साथी को-
पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी दिनेश ने वारदात को अंजाम देने के लिए जेल के पुराने साथी मंसूर आलम को दिल्ली से जयपुर बुलाया। मंसूर ने योजना के तहत रैकी करने के लिए अपने जानकारी इन्द्रजीत सिंह उर्फ रिक्की को जयपुर बुलाया। दिनेश दीक्षित, उसके पुत्र सौहेल उर्फ चिन्टू, मंसूर अली रिक्की द्वारा संचिन जैन के ऑफिस के बाहर रैकी की गई। तथा व्यापारी को लूट के इरादे से उपर सौहेल उर्फ चिन्टू और मंसूर अली द्वारा फायर किया गया। सचिन जैन ने हमलावरों के साथ संघर्ष भी किया। जिस कारण हमलावर अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो सके। उसके बाद 11 अप्रेल को रात 9.30 बजे सौहेल उर्प चिन्टू, मंसूर अली ने दिनेश दीक्षित के इशारे पर बाइक पर सवार होकर पेप्सी को कंपनी के एजेंट पर रानी सती नगर, श्याम नगर में फायर कर उसकी कार से 7.50 लाख रुपए लूटकर भाग गए। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही हैं।

इस टीम ने किया खुलासा-
थानाप्रभारी पुरुषोतम महरिया, एसआई राजेन्द्र प्रसाद, हैड कांस्टेबल प्रधुम्न उपाध्याय, कांस्टेबल राजेश, हरिओम, ओमप्रकाश, परमानंद, अशोक कुमार का सराहनीय काम रहा।