अब 8 घंटे में जबलपुर से दिल्ली पहुंचाएंगी ट्रेनें, 11 ट्रेनों की बढ़ेगी रफ्तार

|

Updated: 22 Oct 2019, 02:00 PM IST

पमरे ने रेलवे बोर्ड से मांगी अनुमति
अब 120 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ेंगी पमरे की ट्रेनें

bullet trains,IRCTC,IRCTC transgender,IRCTC website,india bullet trains,

जबलपुर. पश्चिम मध्य रेलवे (पमरे) के विभिन्न स्टेशनों से शुरू होने वाली और यहांं से गुजरने वाली ट्रेनें जल्द ही 120 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ेंगी। इसके लिए पमरे ने तैयारियां शुरू कर दी हैंं। रेलवे बोर्ड से पहले चरण में 11 ट्रेनों की गति बढ़ाने की अनुमति मांगी है। इसके बाद 10 और ट्रेनों को चलाया जाएगा। वर्तमान में ट्रेनों की स्पीड 90-110 किमी प्रतिघंटा है। जानकारों के अनुसार पहले चरण में एलटीटी से गोरखपुर के बीच चलने वाली ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने पर पर काम किया गया है। इस रूट की ट्रेनों की गति बढ़ाने के लिए रेलवे बोर्ड को पत्र भी लिखा गया है। इसके बाद सम्पर्क क्रांति, सोमनाथ और अमरावती एक्सप्रेस की गति बढ़ाने की अनुमति मांगी जा सकती है।

एलएचबी कोच वाली टे्रनें
पश्चिम मध्य रेलवे से शुरू होने वाली कई टे्रनों में एलएचबी कोच लगाए जा रहे हैं। ये कोच पूर्व के कोच की तुलना में हल्के हैं। इन्हें 130 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ााय जा सकता है। इसलिए पहले चरण में एलएचबी कोच वाली ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने की बात कही जा रही है। इनमें नए और आधुनिक लोको (इंजन) का उपयोग किया जाएगा।

तीनों मंडलों में अधिकतम गति 110 किमी
वर्तमान में पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर, कोटा और भोपाल रेल मंडलों से संचालित ट्रेनों की अधिकतम गति 90-110 किमी प्रतिघंटा है। तीनों मंडलों की ट्रेनों की गति 120 किमी प्रतिघंटा होने पर यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने में कम समय लगेगा।

ऑपरेटिंग विभाग कर रहा तैयारी
ट्रेनों की रफ्तार में ट्रैक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसके लिए ऑपरेटिंग विभाग ट्रैक मेंटेनेंस सहित अन्य स्तर पर काम कर रहा है। जानकारी के अनुसार कटनी से इटारसी के बीच डबल ट्रैक भी डाला गया है।