सुभाषचंद बोस को जिस जंजीर से अंग्रेजों ने बांधा था, वो आज भी मौजूद है यहां: देखें वीडियो

|

Updated: 22 Jan 2021, 01:42 PM IST

सुभाषचंद बोस को जिस जंजीर से अंग्रेजों ने बांधा था, वो आज भी मौजूद है यहां: देखें वीडियो

Subhas Chandra Bose,Birthday celebration,Subhas Chandra Bose,Biography Facts, birthday celebration,Netaji Subhas Chandra Bose International Airport,subhas chandra bose death,netaji death subhas chandra bose death,Netaji Subhas Chandra Bose,subhas chandra bose secret files,netaji subhas chandra bose news,Netaji Subhas Chandra Bose news in hindi,Death of Subhas Chandra Bose,Neta Subhas Chandra Bose Driver,subhas chandra bose love story,subhas chandra bose biography,netaji subhas chandra bose airport news in hindi,Neta Subhas Chandra Bose,subhas chandra bose wife,

जबलपुर। नेताजी सुभाषचंद बोस की जयंती के अवसर पर एक बार फिर संस्कारधानी का इतिहास गर्व महसूस कर रहा है। यहां आजादी की अलख जगाने और आजादी की लड़ाई लडऩे वालों को प्रेरित करने नेताजी सुभाषचंद बोस कई बार आए। अंग्रेजों ने उन्हें गुप्त रूप से जबलपुर जेल में ही कैद रखकर यातनाएं दी थीं। उन्हें जिन जंजीरों में बांधकर रखा जाता था वे आज भी यहां सुरक्षित रखी हुई हैं। नेताजी जिस सैया पर सोते थे, वो आज भी देश की धरोहर के रूप में यहां रखी हुई है। जबलपुर जेल अधीक्षक गोपाल ताम्रकार ने बताया कि यहां हर साल नेताजी सुभाषचंद बोस की बैरक को आजादी की यादों के रूप में संजोया गया है। 23 जनवरी को यहां विशेष कार्यक्रम आयोजित होता है, नेताजी को श्रद्धांजलि दी जाएगी।