राजस्व वसूली के लिए नगर निगम का ये तरीका होगा लाभकारी

|

Published: 15 Nov 2020, 03:21 PM IST

-घर-घर आएंगे निगम के कर निरीक्ष, पीओएस मशीन से जमा होगा हाउस, वाटर व सीवर टैक्स

जबलपुर. कोरोना काल में सब कुछ बंद रहा तो नगर निगम की राजस्व वसूली भी प्रभावित हुई। लोग घरों से निकले ही नहीं। दूसरे आर्थिक तंगी के चलते ऑनलाइन भी टैक्स जमा नहीं किया। ऐसे में अब अनलॉक-5 में नगर निगम ने तय किया है कि विभागीय कर्मचारी घर-घर जा कर हाउस, वाटर व सीवर टैक्स वसूलेंगे। हर कर निरीक्षक के पास पओएस होगा जिससे ऑनलाइन टैक्स भी जमा होगा और हाथों हाथ रसीद भी उपलब्ध हो जाएगी।

इस व्यवस्था का आगाज शहर के पांच जोन से होगा। इसके तहत जोन-4 छोटीलाइन, जोन- 7 आधारताल, जोन- 9 लालमाटी, जोन-10 रांझी और जोन- 13 नंबर निगम मुख्यालय जोन शामिल है। इन जोन के टैक्स कलेक्टरों को एक-एक पीओएस मशीन दे दी गई है। इनमें से कुछ ने मशीन से कर वसूली शुरू भी कर दी है। यह प्रयोग अगर सफल रहा तो अन्य जोन में भी इसी तरह आनलाइन कर वसूली होगी।

कर वसूली के लिए नगर निगम ने एक निजी बैंक से पीओएस मशीन हासिल किया है। इस बैंक में निगम का खाता संचालित होता है। निगम के राजस्व उपायुक्त पीएन सनखेरे ने टेक्स कलेक्टरों को पीओएस मशीन से टैक्स जमा कराने के साथ ही रोजाना हुए गए ट्रांजेक्शन जारी कर मय रसीद के साथ जमा राशि का लेखा जोखा, खाता विवरण, कैशियरों की तरह राजस्व मुख्यालय में जमा करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए टैक्स कलेक्टरों की जिम्मेदारी तय की गई है। 15 नबंवर तक निगम ने 13 करोड़ रुपये राजस्व वसूली का टारगेट रखा था। जिसमे से निगम 4 करोड़ रुपये ही वसूल पाया है।