engineering girl student suicide case: आरोपी पर छात्रा को आत्महत्या को मजबूर करने का केस दर्ज

|

Published: 05 Apr 2021, 11:00 AM IST

-engineering girl student suicide case के चार दिन बाद पुलिस आई हरकत में

जबलपुर. engineering girl student suicide case में पुलिस ने आरोपी पर छात्रा को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कर लिया है। यह कार्रवाई छात्रा के सुसाइड नोट के आधार पर किया गया है। पुलिस ने इस मामले में छात्रा के सुसाइड नोट का हैंडराइटिंग एकस्पर्ट से मिलान भी कराया है।

बता दें कि इंजीनियरिंग छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में विस्तार से लिखा था कि वह क्यों आत्महत्या करने जा रही है। उसने अपने प्रेमी पर गंभीर आरोप लगाए थे। छात्रा ने सुसाइड नोट में लिखा था कि, "ज्योतिष द्विवेदी नाम के युवक ने उसे बातों में फंसाया। शादी का झांसा देकर हदें पार की और फिर वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगा। छात्रा ने युवक के घरवालों पर भी परेशान करने का आरोप लगाया था, साथ ही लिखा था कि उसे उस पर बहुत भरोसा था। उसने अपने पत्र में यहां तक लिखा कि उसकी बहन ज्योति द्विवेदी ने भी उसे भाई का पीछा छोड़ने के लिए कई बार जलील किया। छात्रा ने आरोपी को सख्त से सख्त सजा दिलाने का अनुरोध किया था।"

इस सुसाइड नोट के आधार पर अधारताल पुलिस ने आरोपी ज्योतिष और उसकी बहन ज्योति के खिलाफ रविवार को धारा 306, 34 भादवि का प्रकरण दर्ज कर लिया। टीआई अधारताल शैलेश मिश्रा के मुताबिक हैंडराइटिंग एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार केस दर्ज किया गया है। बता दें कि पुलिस ने उसी दिन यह कहा था कि हैंडराइटिंग एकस्पर्ट से जांच कराई जाएगी, फिर आगे की कार्रवाई होगी।

ये भी पढ़ें- प्यार में धोखा और ब्लैकमेलिंग से तंग इंजीनियरिंग की छात्रा ने किया Suicide

बता दें कि घटना के बाद यह जानकारी मिली थी कि इंजीनियरिंग छात्रा के पिता नौकरीपेशा हैं तो मां गृहणी। एक भाई भी है जो दुकान चलाता है। दो दिन पहले पिता खाना खा कर काम पर चले गए और बेटा दुकान। मां भाई से मिलने गई थी। रात में छात्रा से मिलने उसकी सहेली पहुंची तो उसने दरवाजा नहीं खोला। छात्रा के मोबाइल पर कॉल किया तो उसका कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद उसने छात्रा के पिता व भाई को फोन कर सारी बात बताई। दोनों ने दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया पर दरवाजा नहीं खुला तो दोनो ने दरवाजा तोड़ दिया। दरवाजा तोड़ते ही अंदर का जो दृश्य दिखा उसे देख सभी सन्न रह गए। कमरे में छात्रा फंदे से लटकी मिली। फंदे से उतारकर पिता-पुत्र छात्रा को अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सूचना पर घर पहुंची अधारताल पुलिस को कमरे से एक सुसाइड नोट मिला था। इसमें छात्रा ने लिखा था कि उसे ज्योतिष द्विवेदी नाम के युवक से प्यार हो गया था। उस पर उसे बहुत भरोसा था। पर उसने बातों में फंसाया। उसकी भावनाओं से खेला। शादी का झांसा देकर मनमानियां कीं। फिर उसका वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगा। ज्योतिष के घरवाले भी उसे प्रताड़ित करते हैं। अब वह जीना नहीं चाहती, लेकिन जिंदगी बर्बाद करने वाले ज्योतिष को सजा जरूर मिले। इस पर अधारताल पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।