video story: यात्रियों को लूट रहे बस वाले, 150 के बजाय वसूल रहे थे 250 रुपए

|

Published: 01 Nov 2020, 11:42 AM IST

आइएसबीटी में आरटीओ टीम की कार्रवाई

Bus operators looting,jabalpur bus operators,Bus operators are arbitrary,truck transport and bus operators strike,Metro bus operators,Bus operators,bus operators union,Bus operators in mp,Bus operators in jabalpur,bus passengers,Bus passengers being duped,Bus passengers will be able to enjoy the Internet,bus passengers problems,

जबलपुर। बस ऑपरेटर्स पर्याप्त संख्या में बसों का संचालन नहीं कर रहे। दूसरी ओर यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे थे। ऑपरेटर्स, कंडक्टर और ड्राइवर की इस मिलीभगत का खुलासा शनिवार को उस वक्त हुआ, जब आरटीओ संतोष पॉल और उनकी टीम आइएसबीटी पहुंची। अधिक किराया वसूलने वाले बस ऑपरेटर्स के खिलाफ जुर्माना लगाया।

आरटीओ पॉल और उनकी टीम शनिवार दोपहर आइएसबीटी पहुंंची। सिवनी के लिए रवाना होने के लिए तैयार बस के यात्रियों से पूछताछ की। यात्रियों ने बताया कि सिवनी का किराया 150 रुपए है, लेकिन उनसे 250 रुपए किराया लिया गया है। लखनादौन से आने का किराया 80 रुपए के बजाय 150 रुपए तक लिया जा रहा है। टीम ने यात्रियों से हुई बातचीत की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की।

 

इन बसों पर की कार्रवाई
आरटीओ की टीम ने बस एमपी 20 पीए 0537, एमपी 19 वाय 6378, एमपी 18 पीए 0379, एमपी 20 पीए 9049, एमपी 22 पी 0336, एमपी 50 पी 4154 व एमपी 22 पी 1965 के खिलाफ कार्रवाई कर ऑपरेटर्स से 26 हजार रुपए जुर्माना वसूला।

‘पत्रिका’ ने चलाया अभियान
‘पत्रिका’ ने यात्रियों की इस परेशानी को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। बस ऑपरेटर्स की मनमानी के खिलाफ अभियान चलाया। जिसके बाद ऐसे ऑपरेटर्स पर कार्रवाई की गई। जानकारी के अनुसार अब सप्ताह में दो से तीन दिन बसों की औचक जांच कर और यात्रियों से जानकारी ली जाएगी।

बस ऑपरेटर्स यात्रियों से अधिक किराया वसूल रहे थे। टीम ने आईएसबीटी में बसों की जांच की। आठ बसों में सवार यात्रियों से अधिक किराया लिया जा रहा था। सभी बसों के खिलाफ जुर्माना की कार्रवाई कर 26 हजार रुपए जुर्माना वसूला गया। दोबारा ऐसा मिलता है, तो परमिट रद्द किया जाएगा।
- संतोष पॉल, आरटीओ