Indian Railway ने किया लाखों नौकरियां देने का ऐलान, जानिए किन लोगों को मिलेगा मौका

|

Updated: 25 Jun 2020, 08:05 PM IST

  • 31 अक्टूबर तक 125 दिनों के लिए Railway Infrastructure Projects पर 1,800 करोड़ रुपये खर्च करेगा
  • Railway migrant laborers के लिए 8 लाख व्यक्ति दिन का रोजगार देने की योजना का किया ऐलान

नई दिल्ली। देश के लाखों करोड़ों लोगों के लिए नौकरी की सौगात लेकर आया है। इसके लिए रेलवे मिनिस्ट्री ( Railway Ministry ) इसके लिए अरबों रुपए का बजट तक खर्च करने जा रही है। देश के रेलवे मिनिस्टर पीयूष गोयल ( Railway Minister Piyush Goyal ) ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के माध्यम से जानकारी दी कि रेलवे प्रवासी मजदूरों ( Migrants Workers ) के लिए 8 लाख व्यक्ति दिन का रोजगार देने जा रहा है। उन्होंने कहा कि 31 अक्टूबर तक 125 दिनों के लिए रेलवे इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स ( Railway Infrastructure Projects ) पर 1,800 करोड़ रुपए खर्च करेगा। इसके लिए प्रवासी मजदूरों और दूसरे लोगों को 8 लाख दिन व्यक्ति काम मिल पाएगा।

HUL ने Fair and Lovely से 'Fair' हटाने का किया ऐलान, फायदा होगा या नुकसान?

यहां पर रहने वालों को मिलेगा काम
- मंत्रालय के अनुसार उसने 6 राज्यों कि 116 जिलों में गरीब कल्याण योजना अभियान के प्रोग्रेस की समीक्षा की है।
- उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश, ओडि़शा और झारखंड राज्यों में दी जाएगी नौकरी।
- पिछले शनिवार पीएम ने रोजगार एवं ग्रामीण लोक सेवा कैंपेन का ऐलान किया था।
- इस कैंपेन का नाम गरीब कल्याण रोजगार अभियान रखा गया था।
- इस योजना के तहत बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों को काम देने की बात कही गई थी।
- इस योजना के तहत ग्रामीण इन्फ्रास्ट्रक्चर पर 50,000 करोड़ रुपए खर्च करने का ऐलान हुआ था।

केंद्रीय कर्मियों के Travel Allowance के नियम में ढील, अब भरना होगा सिर्फ Form

मिनिस्ट्री की ओर से प्लान तैयार
- रेलवे मिनिस्ट्री की ओर से आए बयान के अनुसार 125 दिनों के इस अभियान को मिशन मोड पर तैयार किया जाएगा।
- 116 जिलों में मजदूरों को काम मिल पाएगा।
- कुल 160 इन्फ्रास्ट्रक्चर कार्यों को चिन्हित किया गया है।
- रेलवे ने कुछ ऐसे कार्यों को भी चिन्हित किया है, जो रूत्रहृक्रश्वत्रस् के तहत पूरे होंगे।
- जिसमें लेवल क्रॉसिंग्स के आसापास रोड बनाने, रेलवे स्टेशन तक के रोड, ट्रैक के करीब नाले बनाना व इनकी सफाई करना, रेलवे ट्रैक्स की रिपेयरिंग, पौधारोपड़ जैसे काम होंगे।