HDFC ने 6 कर्मचारियों को दिखाया बाहर का रास्ता, Vehicle Financing में घोटाले का है आरोप

|

Published: 21 Jul 2020, 03:30 PM IST

  • HDFC Bank ने 6 senior और mid-level के ऑफिसर्स को किया बर्खास्त
  • Vehicle loan में धांधली का लगा था आरोप

नई दिल्ली : HDFC Bank ने बड़ा कदम उठाते हुए अपने 6 senior और mid-level के ऑफिसर्स को बर्खास्त कर दिया है। इन अधिकारियों पर Vehicle Financing में गड़बड़ी करने का आरोप है। बैंक की Internal investigation में इन कर्मचारियों पर लगे आरोपों को सही पाया गया जिसके बाद बैंक ने इन्हें नौकरी से लने का फैसला किया ।

भारत में ऑपरेशंस बढ़ाएगा zoom, देश में कंपनी को मिली 6700 फीसदी की ग्रोथ

हालांकि HDFC Bank ने इस बारे में आधिकारिक रूप से कोई भी बयान देने से मना कर दिया है लेकिन बताया जाता है कि वाहन लोन बिजनेस से संबंधित ये लोग लोन अप्लाई करने पर कस्टमर्स को Trackpoint GPS से GPS सिस्टम खरीदने के लिए बाध्य करते थे । पाया गया कि इन अधिकारियों की वजह से Trackpoint GPS के 18-19 हजार रुपए कीमत वाले 4-5 हजार जीपीएस डिवाइस हर महीने बेचे जाते हैं। सबसे ज्यादा अजीब बात ये है कि बैंक ऑडिट में इस तरह की धांधली को पकड़ा नहीं जा सका ।

2 अरब डॉलर पार हुआ Amazon पर MSMEs के उत्पादों का निर्यात, 60 हजार से ज्यादा करमचारी कर रहे हं काम

कंपनी के Managing Director Aditya Puri ने AGM में इस बात का जिक्र करते हुए कहा कि बैंक को VEHICLE LOAN से जुड़ी कुछ शिकायतें मिली है और जांच करने पर उन्हें सही पाया गया और अब इस तरह के कामों में संलग्न लोगों पर कार्यवाई की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही उन्होने कहा कि बैंक के इस एक्शन का लोन लेने वाले के प्रोफाइल पर कोई भी असर नहीं पड़ेगा ।

Scrutiny Notice मिलने पर Tax Officer से मिलना नहीं होगा जरूर: आयकर विभाग