Flipkart Big Billion Days Sale: एसबीआई से लेकर बजाज और पेटीएम तक जाने कितना होगा फायदा

|

Published: 07 Oct 2020, 09:29 AM IST

  • फ्लिपकार्ट, पेटीएम ने की 'बिग बिलियन डेज' के दौरान तत्काल कैशबैक की पेशकश
  • एसबीआई डेबिट और क्रेडिट कार्ड उपयोगकतार्ओं के लिए 10 फीसदी की देगा छूट

नई दिल्ली। फ्लिपकार्ट ने फेस्टिव सीजन की शुरुआत करते हुए अपने फ्लैगशिप छह दिवसीय 'बिग बिलियन डेज' सेल की घोषणा कर दी। इसका आयोजन इस साल 16 से 21 अक्टूबर के बीच होगा। इस बार इस सेल से एसबीआई से लेकर बजाज फिनसर्व तक और पेटीएम वॉलेट में उनके द्वारा शॉपिंग करने पर कई तरह की छूट और कैशबैक ऑफर्स कर रहे हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर इस बार आपको सस्ता और अच्छा सामान खरीदने से किस तरह के कैशबैक और ऑफर्स दिए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः- Amazon Prime Day Sale : ग्रेट इंडियन फेस्टिवल 17 अक्टूबर से होगी शुरू, जानिए कितना मिलेगा डिस्काउंट और ऑफर्स

पेटीएम देगा कैशबैक
फ्लिपकार्ट के अनुसार पेटीएम के साथ उसकी साझेदारी के कारण लाखों उपयोगकर्ताओं को पेटीएम वॉलेट और पेटीएम यूपीआई के जरिए 16 अक्टूबर से शुरू होने वाली 'बिग बिलियन डेज सेल' के दौरान फ्लिपकार्ट से खरीदारी करने में आसानी होगी। साथ ही उपयोगकर्ताओं को उनके पेटीएम वॉलेट्स में तत्काल कैशबैक भी मिलेगा।

यह भी पढ़ेंः- चने के बाद अरहर की दाल भी हो सकती है थाली से गायब, 150 रुपए प्रति किलो तक पहुंचे दाम

एसबीआई और बजाज भी दे रहे हैं ऑफर
वहीं दूसरी ओर देश का सबसे बड़ बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया भी फ्लिपकार्ट के फेस्टिव सेल को भुनाने के लिए आगे आया है। इस महासेल के दौरान स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करने वाले ग्राहकों को 10 फीसदी का डिस्काउंट देगा। वहीं दूसरी ओर फ्लिपकार्ट ने नो कास्ट ईएमआई के लिए बजाज फिनसर्व के साथ करार किया है। इससे आप कोई भी सामान खरीदकर ईएमआई में परिवर्तित करा सकते हैं। इसके लिए आपको कोई दूसरा चार्ज और ब्याज नहीं देना होगा।

डिजिटल ट्रांजेक्शंस ने तोड़ा है रिकॉर्ड
भारतीय रिजर्व बैंक के नए आंकड़ों के अनुसार, भारत में डिजिटल लेनदेन की कुल संख्या अगले 5 सालों में दैनिक रूप से औसतन 1.5 अरब तक पहुंचने की उम्मीद है। इससे भारत में डिजिटल भुगतान का अमाउंट भी 2025 तक वर्तमान के 5 खरब रुपए से बढ़कर 15 खरब रुपए हो जाएगा। वैसे सितंबर के महीने में डिजिटल ट्रांजेक्शन की संख्या 1.80 बिलियन तक पहुंच चुकी है जोकि अपने आप में एक रिकॉर्ड है।