फिर 4 दिन के लिए बिना वेतन छुट्टी पर भेजे गए Vistara Airlines के कर्मचारी

|

Updated: 05 May 2020, 04:58 PM IST

विस्तारा ( VISTARA AIRLINES ) ने मई और जून में अपने 1200 सीनियर कर्मचारियों को 4 दिन के अवैतनिक अवकाश यानि लीव विदाउट पे पर जाना अनिवार्य कर दिया है।

नई दिल्ली: एयरलाइंस कंपनियों ( AIRLINES COMPANIES )का हाल बुरा है ये बात अब पुरानी सी लगने लग गई है। लेकिन कंपनियां अपने पुराने नुकसान को खत्म करने का और खुद को चलाते रहने के लिए हर दिन कोई नया तरीका ढूंढती है। टिकट कैंसिल के बारे में तो हम आपको बता चुके हैं। अब खबर मिल रही है विस्तारा ( VISTARA AIRLINES ) ने मई और जून में अपने 1200 सीनियर कर्मचारियों को 4 दिन के अवैतनिक अवकाश यानि लीव विदाउट पे पर जाना अनिवार्य कर दिया है। जबकि एयरलाइन के शेष 2,800 कर्मचारी जैसे कि केबिन क्रू और ग्राउंड हैंडलिंग सेवाओं के कर्मचारी अप्रभावित रहेंगे।इससे पहले कंपनी ने इन्ही कर्मचारियों को 3 दिनों के लिए LWP पर भेजा था।

डिजीटल प्लेटफार्म पर होगी SIDBI की एंट्री, घर बैठे मिलेगी फाइनेंशियल फैसिलिटी

कंपनी के सीईओ ने कर्मचारियों को लिखे मेल में कहा है कि मई और जून में लेवल 1 ए और 1 बी के पायलटों और कर्मचारियों को छोड़कर बाकी सभी कर्मचारियों के लिए अनिवार्य नो पे लीव (सीएनपीएल) जारी रखा जाएगा।कंपनी कोविड-19 या कोरोनावायरस से हो रहे नुकसान की वजह से ये कदम उठाया है

कर्मचारियों को भेजे गए ईमेल में कहा गया है कि, मई और जून के लिए पायलटों को दिए जाने वाले महीने के उड़ान भत्ता को 20 घंटे प्रति माह के आधार पर कर दिया गया है।जबकि इससे पहले ये 70 घंटे के आधार पर दिया जाता था ।

314 अरब डॉलर नुकसान की आशंका-

अंतरार्ष्ट्रीय हवाई परिवहन संघ (IATA) ने कोरोनावायरस ( COVID-19 ) के कारण इस साल हवाई यात्री परिवहन क्षेत्र को 314 अरब डॉलर का राजस्व नुकसान होने की आशंका व्यक्त की है। आयटा ने इससे पहले 24 मार्च को जारी अनुमान में 252 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका जताई थी। अब उस अनुमान में संशोधन करते हुए संघ ने हवाई यात्राओं पर तीन महीने के बैन होने की सूरत में यात्रियों की संख्या में 48 फीसदी गिरावट होने की बात कही है। इससे 314 अरब डॉलर यानी 55 प्रतिशत के राजस्व का नुकसान होगा।