Latest News in Hindi

पांच साल में भी पश्चिमी रिंग रोड का असमंजस नहीं हुआ दूर, कॉलोनियां भी नहीं हो सकीं वैध

By Amit S. Mandloi

Sep, 12 2018 12:58:46 (IST)

विधानसभा क्षेत्र क्रमांक एक के दो एेसे बूथों का जायजा लिया तो कई जमीनी हकीकत सामने आई। यहां विकास तो खूब हुआ, लेकिन कुछ स्थाई मुद्दों पर पांच साल के बाद भी असमंजस की स्थिति बरकरार है।

MP Elections 2018,

इंदौर. विधानसभा क्षेत्र क्रमांक एक में पांच साल पहले की स्थिति को देखें तो अवैध कॉलोनियों का विकास और इनको वैध करोन का मुद्दा प्रमुख रहा। वह आज भी वहीं का वहीं है। हालांकि, विधायक और प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों ने इनमें विकास के रास्ते जरूर निकाले और वोटरों के विश्वास पर खरे उतरने के प्रयास भी किए। पत्रिका ने विधानसभा क्षेत्र क्रमांक एक के दो एेसे बूथों का जायजा लिया तो कई जमीनी हकीकत सामने आई। यहां विकास तो खूब हुआ, लेकिन कुछ स्थाई मुद्दों पर पांच साल के बाद भी असमंजस की स्थिति बरकरार है। भाजपा विधायक सुदर्शन गुप्ता ने पांच साल तक क्षेत्र की जनता के साथ अपने संपर्क को जीवंत बनाए रखा। वहीं, कांग्रेस उम्मीदवार प्रदीप यादव दीपू अपनी पार्षद पत्नी के साथ पूरी तरह सक्रिय रहे। दोनों क्षेत्रों की कई समस्याओं का स्थाई हल तो निकला, लेकिन राज नगर बूथ के आसपास रहने वाले मतदाताओं के मन में पश्चिम रिंग रोड को लेकर असमंजस अभी भी बरकरार है। लोगों का कहना है, विधायक व पार्षद के बीच संवाद की कमी से कुछ मामले अटके हुए हैं। बाणगंगा मेन रोड के रहवासियों के लिए मेन रोड का चौड़ीकरण प्रमुख मुद्दा रहा।

विधायक गुप्ता को क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 5 के बूथ क्रमांक 218 में सर्वाधिक मत मिले थे। यह बूथ राजनगर के ई व एफ सेक्टर को मिला कर बनाया गया था। यहां 1500 से ज्यादा मतदाता हैं। 2013 में 70 प्रतिशत मतदान हुआ था, इसमें गुप्ता को 797 मत मिले थे। क्षेत्र के व्यापारी रवि प्रजापति कहते हैं, पांच साल पहले यह क्षेत्र काफी पिछड़ा था। यहां असामाजिक तत्व सक्रिय थे। चंदे व अवैध वसूली से लोग परेशान रहते थे। इस स्थिति में अब काफी सुधार आया है। विधायक के प्रयास व जन सहयोग से यहां पर पुलिस चौकी की स्थापना हुई। अपराधिक तत्वों का घूमना-फिरना बंद हुआ। रहवासी निलेश जैन का कहना है, काम तो हुआ। मूलभूत समस्याएं भी हल हुईं, लेकिन कॉलोनियों को वैध करने का मामला अभी भी अटका है। रहवासी किरण व्यास का कहना है, विधायक और पार्षद में समन्वयय नहीं होने से हमारी गली की सड़क का काम एक माह से अटका पड़ा है।

2013 में कांग्रेस उम्मीदवार रहे प्रदीप यादव दीपू को बाणगंगा मेन रोड के मतदाताओं से बने बूथ क्रमांक ६९ से सर्वाधिक मत मिले थे। 1382 मतदाता वाले इस बूथ पर ६९ प्रतिशत मतदान हुआ था। दीपू को 633 मत मिले थे। यह बूथ वार्ड क्र. 10 का हिस्सा है। यहां से पार्षद विनितिका यादव हैं। क्षेत्र के व्यापारी नरेश यादव का कहना है, पांच साल में स्थिति काफी सुधरी है। गलियां बनी हैं। गर्मी में पानी की समस्या काफी रहती है। टैंकर से पानी उपलब्ध करवाया जाता है। रहवासी राजेश कुमावत कहते हैं, हम क्या बोले। सारी स्थिति आपके सामने है। यहां कोई एेसा बड़ा मुद्दा नहीं है। सड़क-पानी-बिजली ही हमारी समस्या है। जहां तक अपराध का सवाल है, कोई विशेष फर्क नहीं पड़ा।

इस बूथ पर भाजपा विधायक सुदर्शन गुप्ता को मिले सर्वाधिक मत

बूथ नंबर - 218

बूथ के क्षेत्र - राजनगर ई व एफ सेक्टर

कुल मतदाता - 1563

पुरुष - 836

महिला-727

कुल वोट पड़े -1103

भाजपा - 797

कांग्रेस - 78

शेष निर्दलीय को

..............................

इस बूथ पर मिले कांग्रेस उम्मीदवार प्रदीप यादव को सर्वाधिक मत

बूथ नंबर - 69

बूथ क्षेत्र - बाणगंगा मेन रोड

कुल मतदाता - 1382

पुरुष - 741

महिला -641

कुल मतदान - 954

कांग्रेस - 633

भाजपा - 257

शेष निर्दलीय को

आमने-सामने

इस क्षेत्र के दो बड़े मुद्दे हैं अवैध कॉलोनियों का वैधीकरण और पश्चिमी रिंग रोड। इसमें कॉलोनी वैध करने के लिए रहवासी संघ के माध्यम से प्रयासरत हैं। लोगों को प्रक्रिया बताई है। वहीं पश्चिमी रिंग रोड के मामले में कोशिश कर रहे हैं।
- सुदर्शन गुप्ता, विधायक

क्षेत्र की प्रमुख समस्या पानी है। कई क्षेत्रों में पानी नहीं है। विधायक अपने हिसाब से ट्यूबवेल करवाते हैं। इन इलाकों में पानी पहुंचाने के लिए ट्यूबवेल खुदवा कर नगर निगम के सहयोग से लाइनें डालने का काम कर रहे हैं।
- प्रदीप यादव, कांग्रेस प्रत्याशी 2013

पूरा सहयोग मिलता है
विधायक के साथ मिलकर पूरे वार्ड के विकास की रूप रेखा बनाई गई। उनके और महापौर के सहयोग से ही काम होता है। रिंग रोड आइडीए बनाएंगा। अभी इस योजना पर काम आगे नहीं बढ़ा है।
- राजेश चौहान, पार्षद वार्ड 5

टंकी बन रही है
लगातार प्रयास के बाद भी जयहिंद नगर की टंकी बन कर तैयार नहीं हुई है। स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। जिससे गलियों में उजाला रहे और घटनाएं नहीं हो।
- विनितिका यादव, पार्षद, वार्ड 10