पानी के मुद्दा से भाजपा ने जीता नपा चुनाव, यह काम अब भी अधूरा

|

Published: 25 Feb 2021, 04:47 PM IST

भाजपा नगरीय निकाय चुनाव संचालन समिति के प्रदेश सदस्य ने शहरवासियों से लिए सुझाव, कहा- इनके आधार पर बनेगा भाजपा का संकल्प पत्र

BJP wins nappa election due to water issue, this task still incomplete

खरगोन. शहर में घर-घर तक पानी पहुंचाने के लिए नगर पालिका ने 1975 में पाइप लाइन का जाल बिछाया। इसकी मियाद वर्ष 2000 तक की ही थी। लेकिन मियाद खत्म होने के बाद 21 साल बित गए हैं, लेकिन अभी तक शहरवासी पेयजल समस्या से जुझ रहे हैं। इसक अभी तक हल नहीं निकल पाया। और भाजपा एक बार फिर इस मुद्दा बनाकर चुनाव लडऩे की तैयारी कर रही है।
नगर पालिका चुनाव के नजदीक आते ही राजनीतिक पार्टियां सक्रिय हो गई हैं। कांग्रेस गली-गली जाकर उम्मीदवार खंगाल रही है वहीं भाजपा जनता का मन टटोटने से इसका श्रीगणेश कर रही है। बुधवार को भाजना नगरीय निकाय चुनाव संचालन समिति के प्रदेश सदस्य व जिला प्रभारी अतुल पटेल खरगोन पहुंचे। भाजपा जिला कार्यालय पर विभिन्न श्रेणी के नागरिकों से सुझाव शहर हित में होने वाले कार्यों पर सुझाव मांगे। पटेल ने कहा- इन सुझावों के आधार पर भाजपा अपना संकल्प पत्र तैयार करेगी। उन्हें आधार बनाकर चुनाव लड़ेगी। जीत मिलने के बाद संकल्प पत्र के एक-एक बिंदुओं को मूर्त रूप देगी।
नगरपालिका के बीते दो चुनावों में भाजपा का ही राज रहा है। यह दोनों चुनाव पार्टी ने शहरवासियों को 24 घंटे पानी देने और कुंदा सौंदर्यीकरण के नाम पर जीते। हालांकि यह दोनों ही काम अब तक साकार नहीं हो पाए हैं। इसके पूर्व भाजपा पदाधिकारियों की बैठक हुई। इसमें भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्रसिंह राठौर, पूर्व जिलाध्यक्ष रणजीतसिंह डंडीर, परसराम चौहानए पूर्व नपाध्यक्ष खरगोन विपिन गौर मौजूद थे। राठौर ने कहा समाज के हर वर्ग से अलग-अलग सुझाव लेकर पार्टी चुनावी संकल्प पत्र तैयार करेगी। जिसे विजयी होने के बाद लागू किया जाएगा। संचालन जिला कार्यालय प्रभारी मोहन राठौर ने किया। आभार नगर मंडल अध्यक्ष राकेश आलीवाल ने माना। जिले की अन्य नगरपालिका व परिषदों के लिए भी सुझाव आए।
इन परिषदों के लिए यह सुझाव आए
बिस्टान नगर परिषद : क्षेत्र में कॉलेज हो। तहसील कार्यालय बने। सीवरेज निर्माण किया जाए। स्वच्छता, स्वास्थ्य व पेयजल प्रदाय से जुड़ी सुविधाएं मिले।
कसरावद नगर परिषद : क्षेत्र में रोड चौड़ीकरण हो। कृषि उपज मंडी क्षेत्र का विकास हो। ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण। नवीन परिषद भवन निर्माण। खेल स्टेडियम का निर्माण।

संकल्प पत्र के लिए प्रमुख सुझाव
शहर में भारी वाहनों के लिए रिंग रोड बनाया जाए।
सब्जी मंडी का स्थान परिवर्तन किया जाए।
रहवासी क्षेत्रों में भारी वाहनों व उद्योग-धंधों पर प्रतिबंध लगाया जाए।
कुंदा तट का सौंदर्यीकरण कर शहर के गंदे नालों को नदी में मिलने से रोका जाए।
तालाब चौक से तिलक पथ चावला बिल्डिंग तक लाई ओवर ब्रिज निर्माण।
सिटी बस सेवा शुरू की जाए।
नगर में महिलाओं को स्वरोजगार से जोडऩे के लिए वार्ड वार केंद्र खोले जाए।