Latest News in Hindi

भाजपा नेताओं से सीएम की मुलाकात को लेकर कांग्रेस ने तेलंगाना सरकार पर साधा निशाना

By Prateek Saini

Aug, 27 2018 09:27:30 (IST)

बता दें कि पिछले शुक्रवार से मुख्यमंत्री केसीआर, पीएम मोदी के साथ भेंट के लिए दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं...

(पत्रिका ब्यूरो,हैदराबाद): कांग्रेस के जगित्याल विधायक टी.जीवन रेड्डी और प्रदेश अध्‍यक्ष उत्तम रेड्डी ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर के बार बार दिल्ली जाने को लेकर निशाना साधा है। विधायक टी.जीवन रेड्डी ने मुख्यमंत्री से पुछा कि वे ज़ोनल सिस्टम, सचिवालय आदि बनाने के नाम पर सिर्फ़ दिल्ली का चक्कर लगा रहे हैं। साढ़े चार साल में वे दो लाख ख़ाली पदों पर भर्ती करने में फ़ेल क्यों रहे? उन्होंने कहा कि राज्‍य सरकार युवाओं को रोज़गार नहीं दे पा रही है।


तेलंगाना के मुख्यमंत्री की प्रधानमंत्री से दोस्ती तेलंगाना राज्य के लिए लाभदायक साबित नहीं हुई है। जीवन रेड्डी ने कहा कि राज्य में 2 लाख से ज़्यादा नौकरियाँ ख़ाली पड़ी है। इसके बावजूद मुख्यमंत्री नए जिलों के लिए ज़ोनल सिस्टम की केंद्र से स्वीकृति के लिए दिल्ली में भागदौड़ कर रहे हैं। टीआरएस पार्टी ने मुसलमानों को 12 प्रतिशत आरक्षण देने का वादा किया था लेकिन अब यह बस एक सपना बन कर रह गया है। विधानसभा परिसर में मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि पोलो ग्राउंड में सचिवालय बनाने की मुख्यमंत्री की योजना सही नहीं है। वे केवल साढ़े चार साल में अपने लिए एक 'प्रगति भवन' ही बना सके।

 

दूसरी ओर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष एन.उत्तम कुमार रेड्डी ने केसीआर के आगामी चुनावों में 100 विधान सभा सीटें जीतने के दावे को एक मज़ाक कहा। उन्होंने कहा कि केसीआर अपनी ख़ुशी में मगन हैं और उनकी ओर से कराये गए सर्वे रिपोर्ट दूसरे राज्यों से सम्बंधित हैं। जबकि सच्चाई यह है कि तेलंगाना की जनता टीआरएस से तंग आ चुकी है और अब वो बदलाव चाहती है।

 

उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि कांग्रेस में राज्य में सर्वे कराने से मालूम हुआ की जनता 2019 के विधान सभा चुनाव में कांग्रेस को 75 सीटों से कामयाबी दिलाना चाहती है। उन्होंने कहा की वर्तमान सरकार ने तेलंगाना बनाने के मकसद को भुला दिया है। राज्य के किसान परेशान हैं, सरकारी कर्मचारी नाराज़ हैं और छात्र भी मायूस हैं। राज्य को सुनहरा तेलंगाना बनाने का वादा कागज़ तक ही रहा। ऐसी परिस्थिति में बदलाव सिर्फ कांग्रेस ही ला सकती है तथा जनता की
उम्मीद को पूरा कर उनके साथ न्याय कर सकती है।


बता दें कि पिछले शुक्रवार से मुख्यमंत्री केसीआर, पीएम मोदी के साथ भेंट के लिए दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं और उनके साथ कई आला अधिकारियों का एक दल भी राज्य के विकास से संबंधी लंबित मामलों के निपटारे के लिए प्रयास करने में लगे हैं। लेकिन इस बार दिल्ली में भाजपा से नजदीकियों के लिए तेलंगाना राष्ट्र समिति और मुख्यमंत्री केसीआर को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। कल राजनाथ सिंह और अरुण जेटली से मिलने के बाद मुख्यमंत्री केसीआर ने आज केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से भेंट की।