ऐतिहासिक खोज: इंसान के शरीर में मिला एक नया अंग, जाने कहां है मौजूद ?

|

Published: 22 Oct 2020, 09:15 PM IST

New Human Salivary Glands: नीदरलैंड्स कैंसर इंस्टिट्यूट के रिसर्चरों ने इंसान के शरीर में गले के ऊपरी हिस्से में लार ग्रंथियों का एक सेट खोजा है। इस खोज से कैंसर के इलाज में मदद मिलेगी।

नई दिल्ली। हम सब के साथ कभी ना कभी ऐसा जरूर होता है कि हम करने कुछ और जाते हैं और करके कुछ आते हैं। हाल ही में ऐशा ही कुछ नीदरलैंड्स के वैज्ञानिकों के साथ हुआ है। वैज्ञानिक प्रोस्टेट कैंसर पर रिसर्च कर रहे थे और इत्तेफाक से उन्होंने इंसानों के गले में एक नया अंग खोज निकाला।

जानें कितने दिन बाद दोबारा हो सकता है कोरोना? ICMR ने दी जानकारी

क्या है इस नए अंग का नाम?

वैज्ञानिकों को ये नया अंग नाक के पीछे और गले के कुछ ऊपर के हिस्से में मिला है, जो करीब 1.5 इंच का है। वैज्ञानिकों ने शरीर में पता चले इस नए अंग को Tubarial salivary glands नाम दिया है। बताया जा रहा है ये अंग नाक के लूब्रिकेशन में मदद करता है और इसकी मदद से कैंसर के मरीज़ों को लार और निगलने में होने वाली समस्याओं को दूर किया जा सकेगा।

कैसे हुई खोज?

Radiotherapy and Oncology जर्नल के मुताबिक नीदरलैंड्स कैंसर इंस्टिट्यूट के रिसर्चर प्रोस्टेट कैंसर से जुड़ी नई जानकारी के लिए PSMA PET-CT नाम के स्कैन की जांच कर रहे थे। इसके लिए रेडियोएक्टिव ट्रेसर को मरीज के शरीर में इंजेक्ट किया गया गया और जांच में नए अंग के बारे में पता चला। इसके बाद वैज्ञानिकों ने 100 मरीजों पर स्टडी की और उनमें भी ये ग्लैंड मिल गया। जिसके बाद इस नए अंग की पुष्टी हुई।

Corona: जानें किन तरीकों से किया जा सकता है कोरोनावायरस का इलाज

कैंसर के इलाज में मिलेगी मदद

इस नए अंग से कैंसर के इलाज में होने वाले साइड इफेक्ट्स को कम किया जा सकेगा। जानकारों के मुताबिक कैंसर के इलाज के लिए सिर और गले में रेडियोथेरपी के दौरान सलाइवरी ग्लैंड्स को बचाने की कोशिश की जाती है। क्यों डॉक्टरों को नहीं पता था कि शरीर में और भी सलाइवरी ग्लैंड्स होते हैं। ऐसे में इस नए ग्लैंड्स से कैंसर के इलाज में मदद जरूर मिलेगा।