COVID-19: जाने क्यों गधों को गले लगा रहे हैं कोरोना वॉरियर्स ?

|

Published: 22 Oct 2020, 04:32 PM IST

Coronavirus: स्पेन में मेडिकल स्टाफ को डिप्रेशन और तनाव से से छुटाकार दिलाने के लिए फ्री में Donkey therapy चिकित्सा दी जा रही है। इसे पशु सहायता चिकित्सा के तौर पर भी जाना जाता है।

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना ने कोहराम मचा रखा है। ताजे आंकड़ों के मुताबिक 4.13 करोड़ से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। वहीं 11.3 लाख से अधिक से लोगों की मौत हो चुकी है। इस माहमारी के खिलाफ डॉक्टर्स, स्वास्थ्यकर्मी और अन्य कोरोना वारियर्स काफी लंबे समय से जंग लड़ रहे हैं। जिसके वजह से ज्यादातर लोग डिप्रेशन और तनाव का शिकार होने लगे हैं। ऐसे में तनाव को दूर करने लिए स्पेन में लोग गधे को गले लगा रहे हैं।

मास्क नहीं पहने वाले सावधान! एक बार यह वीडियो जरूर देखें

स्पेन में लोग ले रहे हैं Donkey therapy

डेली मेल के एक रिपोर्ट के मुताबिक स्पेन में गधों का सहारा लेकर मेडिकल स्टाफ को डिप्रेशन से छुटकारा दिलाया जा रहा है। यहां लोगों को तनाव और डिप्रेशन से छुटाकार दिलाने के लिए फ्री में ***** चिकित्सा (Donkey therapy) दी जा रही है।

Corona: जानें किन तरीकों से किया जा सकता है कोरोनावायरस का इलाज

कैसे होता है Donkey therapy

इस थेरेपी में गधे के जरिए तनाव, मानसिक डिसऑडर्स, अवसाद, चिंता को दूर किया जाता है। इसमें जो व्यक्ति परेशान है उसे कुछ देर के लिए गधे से गले लगवाया जाता है। जानकारों के मुताबिक गधे को गले लगाने से लोगों को राहत मिलती है। इसकी वजह ये है कि गधे अपने कोमल स्वभाव से मानसिक या शारीरिक विकारों को दूर करने में अनुकूल होते हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए जा रहे हैं RTO तो कराना पड़ सकता है Covid-19 टेस्ट!

डॉक्टर्स भी हो रहे हैं बीमार

बता दें कि कोरोना काल में ज्यादातर लोग बीमार हो रहे हैं। इसमें सबसे ज्यादा डॉक्टर्स , पुलिस और मेडिकल स्टाफ से जुड़े लोग हैं। कोरोना आने के बाद से ही ये लोग लगातार काम कर रहे हैं। ऐसे में कई लोग तनाव का शिकार हो रहे हैं। ऐसे में लोगों के तनाव को कम करने के लिए गधों का सहारा लिया जा रहा है।