Aaj Ka Ank Jyotish: आज अंक 6 वाले जातकों का होगा भाग्योदय, मिलेगा सबकुछ

|

Published: 21 May 2020, 06:30 AM IST

Aaj Ka Ank Jyotish: अंकज्योतिष के अनुसार जानें कैसा रहेगा आपका आज का दिन

Aaj Ka Ank Jyotish: आज अंक 6 वाले जातकों का होगा भाग्योदय, मिलेगा सबकुछ

ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- सहयोगियों के मध्य कार्य विभाजन को लेकर चल रही उठापटक में अपने ऊपर एकतरफा निर्णय के आरोप लग सकते हैं। संतानपक्ष का रूखा व्यवहार मन को वेदना पहुंचाएगा।
अनुकूलता के लिए- जसवंती का पुष्प अपने पास में रखें।

अंक 02- मन मे उठी जिज्ञासाओं को पुरा करने के चक्कर में अनजाने में हुई गलती परेशानी खड़ी कर देगी। पारिवारिक मसलों में बाहरी व्यक्ति का हस्तक्षेप दिक्कत दे सकता है।
अनुकूलता के लिए- बुजुर्गों का आशीर्वाद जरूर लें।

अंक 03- युवाओं को भविष्य के प्रति मिल रही चुनौतियों का डटकर सामना करने से मनचाही मंजिल प्राप्त होगी। बुजुर्गों की छोटी सी समस्याएं अधिक धन खर्च करा सकती है।
अनुकूलता के लिए- काले श्वान को टुकडे़ कर रोटी खिलाएं।

अंक 04- आहार विहार पर नियंत्रण न रखने के कारण नुकसान शारीरिक दुर्बलता के रूप में सामने आने लगेंगे। सुविचारों का आदान प्रदान चारों और आत्मीय प्रशंसा को बढ़ाएगा।
अनुकूलता के लिए- प्रातःकाल घर में शंखनाद करें।

अंक 05- कारोबार के लिए मुश्किल से मिले ऋण का उपयोग घर की अनावश्यक जरूरतों में लगने के कारण मन चिंतित हो उठेगा। स्वयं के स्वास्थ्य को लेकर चिंताएं कम होने लगेगी।
अनुकूलता के लिए- बहते जल में मुट्ठी भर मुंग प्रवाहित करें।

अंक 06- कामकाज के सिलसिले में अतिव्यस्तता व बाहर रहने के कारण परिवार की अनदेखी से स्वंय को बचाकर रखना फायदे में रहेगा। दोस्ती के चक्कर में अपने फर्ज को न भुले। अनुकूलता के लिए- मीठे नीम का सेवन कर कार्य शुरू करें।

अंक 07- भागदौड़ से भरी जिंदगी में कुछ पल फुरसत के निकालते हुए स्वयं के विषय में भी सोचना होगा। नौकरी में होने वाले अदृष्य हमलों का पुरे जोश के साथ सामना करना होगा।
अनुकूलता के लिए- शनिदेव का वैदिक मंत्र से अभिषेक करें।

अंक 08- व्यक्तिगत संबंधों में रंगीले व्यवहार को काबु में रखते हुए बड़ा दिल लेकर चलना होगा। मित्रता को आजमाए बिना भावावेश में आकर रूपयों के लेनदेन में नुकसान उठा सकते हैं।
अनुकूलता के लिए- ब्राह्मण को धार्मिक पुस्तक दान में दें।

अंक 09- कामकाजी व्यक्तियों को अतिरिक्त आमदनी के चक्कर में फर्ज से पीछे हटना पड़ सकता है। घोर प्रतिस्पर्धा के इस युग में लक्ष्य प्राप्त न कर पाने से युवाओं का मन भटकने लगेगा। अनुकूलता के लिए- प्रातःकाल कुछ देर ध्यान लगाएं।