BE ALERT : उल्टी-दस्त में इन गलतियों से आते चक्कर और बेहोशी

|

Published: 24 Jul 2020, 04:52 PM IST

लगातार उल्टी-दस्त होने से शरीर में कमजोरी, चक्कर और बेहोशी आती है। साथ ही, शरीर में तेजी से मिनरल्स यानी खनिज तत्त्वों की कमी होने लगता है। उल्टी-दस्त से शरीर में सोडियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, हाइड्रो क्लोराइड की कमी हो जाती है। इससे हाथ-पैरों में दर्द, आंतों का मूवमेंट और हार्ट की गति कम हो जाती है।

मांसपेशियों में दर्द, चक्कर और बेहोशी आती है। बुजुर्गों, लिवर के मरीजों में सोडियम की दिक्कत ज्यादा होती है। ऐसे लोग जिनकी मांसपेशियां कमजोर होती हैं उन्हें भी उल्टी-दस्त में ऐसी दिक्कतें ज्यादा होती हैं। ऐसी दिक्कत होने पर मरीज को तुरंत चिकित्सक की परामर्श से दवाएं और खानपान में बदलाव करना चाहिए। कई बार समय पर इलाज न मिलने से स्थिति गंभीर हो सकती है।

सिट्रस फ्रूट्स नींबू, केला और संतरा खाना चाहिए

उल्टी-दस्त होने पर पहले मरीज को ओआरएस घोल देते हैं। यदि नहीं है तो घर पर ही नींबू, नमक और चीनी की शिकंजी बनाकर दें। इसके अलावा खूब पानी पीना चाहिए। शरीर में मिनरल्स की कमी को पूरा करने के लिए सिट्रस फ्रूट्स नींबू, संतरा, केला आदि खाना चाहिए। समय से इन मिनरल्स व पानी की कमी पूरा न होने से किडनी भी फेल हो सकती हैै।
एक्सपर्ट : डॉ. गौरव गुप्ता, गैस्ट्रोएंटोलॉजिस्ट, एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर