आपका ध्यान किधर है! इम्यूनिटी बूस्टर रसगुल्ला इधर है, इन खास चीजों का पौषण है इसमें शामिल

|

Published: 29 Sep 2020, 07:32 PM IST

अच्छी खबर यह है कि स्वादिष्ट रसगुल्ला अब आपकी इम्यूनिटी भी बढ़ाएगा (Ranchi Confectioner Claimed To Make Immunity Booster Rasgulla) (Jharkhand News) (Ranchi News) (Giridih News) (How To Bosst Immunity) (Immunity Booster Rasgulla) (Rasgulla Making Recipe)...

 

रांचीः,गिरिडीह: हर क्षेत्र में विशेष कीर्तिमान रचने वाला भारत खाना—पान के मामले में भी अन्य देशों से कहीं आगे हैं। अलग—अलग क्षेत्र में विशेष व्यंजन प्रचलित है। ऐसे ही व्यंजनों में से एक है 'रसगुल्ला' जो कि लगभग भारत के हर एक राज्य में बड़े चाव से खाया जाता है। Coronavirus के समय रोग प्रतिरोधी क्षमता या इम्यूनिटी (Immunity Booster) के प्रति लोग सजग हो गए हैं। ऐसे में अच्छी खबर यह है कि स्वादिष्ट रसगुल्ला अब आपकी इम्यूनिटी भी बढ़ाएगा।

यह भी पढ़ें: मुकेश अंबानी हुरुन इंडिया की अमीरों की सूची में पहले स्थान पर

यूं आया विचार...

जी हां, झारखंड की राजधानी रांची में अपर 'चुटिया' निवासी कमल कुमार अग्रवाल ने यह संभव कर दिखाया है। फल और सब्जियों का इस्तेमाल करके उनके द्वारा इसे बनाया गया है। कमल का दावा है कि यह रसगुल्ला जीभ को संतुष्ट करने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी करेगा। कमल ने बताया कि यह रसगुल्ला बनाने के लिए हर तरह के फल या सब्जी के फ्लेवर का उपयोग किया जाता है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन में जब सब बंद पड़ा था और कोरोना की दस्तक के साथ ही इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजें खाने पर जोर दिया जाने लगा उस समय उन्होंने यह रसगुल्ला बनाने की सोची।

यह भी पढ़ें: किसानों के दिल में छुरा मारने और उनकी रीढ़ तोड़ने वाले हैं नए कृषि कानून- राहुल गांधी

यूं भरते है पोषक रस...

उन्होंने यह भी बताया कि रसगुल्ले बनाने के लिए फल या सब्जी का पल्प निकालकर उसे छेने में मिला दिया जाता है। इसके सामान्य रसगुल्ले की तरह यह तैयार होता है। फल और सब्जी की मात्रा इस हिसाब से रखी जाती है कि केवल फ्लेवर आए। कमल का कहना है कि इन रसगुल्लों में फलों और सब्जियों के जितना ही पोषण है। इसके साथ ही शुद्ध दूध से बना छेना इसमें इस्तेमाल किया जाता है वह भी ताकत देता है। यह सभी तत्व इम्यूनिटी बढ़ाने में सहायक है।

यह भी पढ़ें: वायुसेना प्रमुख ने कहा, सीमा पर तनाव का माहौल, हम हर चुनौती का जवाब देंगे

फलों के साथ ही सब्ज्यिों के साथ ही उन्होंने च्यवणप्राश वाले रसगुल्ले भी तैयार किए है। करेले और हरी मिर्च के फ्लेवर का रसगुल्ला भी यहां उपलब्ध है। कमल का कहना है कि इन दिनों में च्यवणप्राश के रसगुल्लों की डिमांड ज्यादा है। इसे बनाने के लिए कई प्रकार के मसालों को खजूर के पल्प में मिलाकर रसगुल्ले के अंदर भरा जाता है। इसके बाद एक खास तापमान पर गर्म चीनी की चाशनी में इसे डूबा कर रखा जाता है। रांची के बाजार में फल और सब्जियों के गुण से भरे रसगुल्ले को काफी पसंद किया जा रहा है।

ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...