दीपावली पर देशी सामानों की धूम, विदेशी सामानों को नहीं खरीद रहे लोग

|

Published: 12 Nov 2020, 07:39 PM IST

- कोविड 19 के बावजूद रौशनी का पर्व दीवापली की रौनक शहरों में दिखने लगी है।

गाजीपुर. जिले में कोविड 19 के बावजूद रौशनी का पर्व दीवापली की रौनक शहरों में दिखने लगी है। शहर में परंपरा के अनुसार लोगों घरों के साथ ही प्रतिष्ठानों को सजा दिया है। शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में दीपावली का बाजार सज गया है। बर्तन से लेकर सोना-चांदी, इलेक्ट्रानिक बाइक के साथ ही चारपहिया वाहनों के दुकानदार धनतेरस पर्व पर खरीददारी के लिए सज गए है। साथ ही लोगों को लुभाने के लिए दुकानों पर तरह-तरह की स्कीम भी उपलब्ध कराई गई है। लेकिन इसके बावजूद लोग कोविड का हवाला देते हुए और देशी सामानों की खरीददारी के लिए वरीयता दे रहे है और विदेशी सामानों को बहिष्कृत कर रहे है।

हिन्दू परम्परा के अनुसार धनतेरस पर्व पर नए सामानों के साथ गणेश लक्ष्मी की मूर्ति खरीदने की परंपरा है। जिसके लिए शहर सज चुका है। लोग स्वदेशी मिट्टी के गणेश-लक्षमी की मूर्ति को ख़रीददार वरीयता दी रहे है। हालांकि इन दुकानों पर स्वदेशी आइटम और लोकल फॉर वोकल का नारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा दिया गयाा है। जिसका नजारा दुकानों पर भी देखने को मिल रहा है। जहां पर स्वदेशी सामान ही देखने को मिल रहा है। जबकि प्रत्येक साल दुकाने चाइनीज आइटम से भरे पड़े होते थे। लेकिन इसबार इस पर्व पर दुकान से गायब नजर आ रहे हैं।

साथ ही साथ जो भी खरीददार हैं वह भी स्वदेशी सामान को ही तवज्जो देते नजर आ रहे हैं। जब इस बारे में महिला दुकानदार से बात की गई तो उन्होंने ने बताया कि कोविड-19 की वजह से इस बार ग्राहकों का आना काफी कम है।

उम्मीद है कि इसबार उनकी यह दीपावली फीकी नहीं होगी। उन्होंने बताया कि उनके दुकान में बिजली की झालर, दिया, मोमबत्ती, गणेश-लक्ष्मी जी की प्रतिमा के साथ पर्व पर घरों और दुकानों में संजाए जाने वाली सामग्री गणेश-लक्ष्मी की प्रतिमा उपलब्ध है। इन दुकानों पर खरीददारों के पहुंचने का क्रम शुरु हो गया है। हालांकि अभी तक बाजार में खरीददारी की वह रौनक नहीं दिखाई दे रही है, जो दिखनी चाहिए। दुकानदारों का कहना है कि जैसे-जैसे पर्व नजदीक आएगा, वैसे-वैसे ग्राहकों की भीड़ बढ़ेगी। आज धनतेरस पर खरीददारी की धूम मचेगी।