मुख्तार परिवार पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, 28 करोड़ से अधिक की जमीनें कुर्क की जाएंगी

|

Published: 07 Nov 2020, 08:43 PM IST

  • गाजीपुर की तीन में से एक सम्पत्ति हुई कुर्क, दो पर कार्रवाई सोमवार को
  • 9 भूखंडों पर कुर्की की कार्रवाई के लिये मऊ जिलाधिकारी को भेजा गया पत्र
  • मुख्तार अंसारी की पत्नी और दो सालों के नाम से है सम्पत्तियां

मुख्तार परिवार पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, 28 करोड़ से अधिक की जमीनें कुर्क की जाएंगी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजीपुर. पत्नी अफशां अंसारी के राष्ट्रपति को पत्र लिखने और भाई सांसद अफजाल अंसारी द्वारा भी मीडिया में आकर राजनीतिक दुराग्रह के चलते कार्रवाई किये जाने का आरोप लगाए जाने के बावजूद मुख्तार अंसारी परिवार और उनके करीबियों पर सरकार की सख्ती कम नहीं हुई है। मुख्तार अंसारी परिवार पर रविवार को योगी सरकार ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। मुख्तार अंसारी परिवार की लगभग 28 करोड़ 58 लाख रुपये मूल्य की 12 जमीनें कुर्क किये जाने का आदेश जारी कर दिया गया है। गाजीपुर जिला प्रशासन ने सक्रियता दिखाते हुए जिले की तीन में से एक जमीन पर कुर्की की कार्रवाई भी कर दी। मुख्तार अंसारी और उनके करीबियों के खिलाफ सरकार अब तक 150 करोड़ रुपये की सम्पत्ति पर कुर्की और ध्वस्तीकरण की कार्रवाई कर चुकी है।

 

सीओ सिटी ओजस्वी चावला ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर रविवार को कुर्की की कार्रवाई की गई। डीएम की ओर से मुख्तार अंसारी से संबंधित 12 भूखंडों पर कुर्की की कार्रवाई का आदेश जारी किया गया है। इनमें से तीन भूखंड गाजीपुर में हैं, जबकि नौ मऊ जिले में। रविवार को गाजीपुर के तीन में एक एक भूखंड की कुर्की कर ली गई। बाकी दो पर कुर्की की कार्रवाई सोमवार को की जाएगी। बाकी बचे 9 भूखंडों पर कुर्की की कार्रवाई के लिये मऊ के डीएम को पत्र भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि सभी भूखंड मुख्तार अंसारी की पत्नी और उनके दो सालों के नाम पर हैं।

 


बताते चलें कि अभी एक सप्ताह पहले ही गाजीपुर के महुआबाग स्थित मुख्तार अंसारी की पत्नी और बेटों के नाम पर बने होटल गजल को योगी सरकार ने बुलडोजर लगवाकर जमींदोज करवा दिया। इसके ठीक पहले मुख्तार अंसरी के बेहद करीबी कारोबारी डाॅक्टर आजम के गंगा किनारे स्थित भव्य अस्पताल, ट्राॅमा सेंटर और नर्सिंग इंस्टीट्यूट को भी योगी सरकार घ्वस्त करा चुकी है। अब तक मुख्तार और उनके करीबियों के खिलाफ 150 करोड़ की सम्पत्ति पर कुर्की और ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जा चुकी है। साथ ही परिवार और करीबियों के 77 से अधिक शस्त्र लाइसेंस निरस्त व निलंबित कर जब्त किये जा चुके हैं।