दिल्ली—यूपी बॉर्डर पर इकट्ठा हो गई हजारों की भीड़, मिल्क वैन में भर गए, देखिए तस्वीरें

|

Published: 28 Mar 2020, 02:14 PM IST

Highlights

  • गाजियाबाद में बसों का किया गया इंतजाम
  • दूर जाने वाले कई लोगों को भेजा गया वापस
  • इनके जाते ही फिर पहुंच गए हजारों लोग

गाजियाबाद। लॉकडाउन का ऐलान होने के बाद दिल्ली—यूपी बॉर्डर पर हजारों लोगों की भीड़ जमा हो रही है। गाजियाबाद दिल्ली सीमा का भी कुछ ऐसा ही हाल है। शनिवार सुबह भी हजारों लोग बॉर्डर पर इकट्ठा हो गए। इनको किसी तरह बसों को इंतजाम करके इनके घरों की ओर भेजा गया। इनके जाते ही कुछ देर बाद वहां पर हजारों लोग पहुंच गए।

लॉकडाउन की घोषणा के बाद दिल्ली, नोएडा व हरियाणा में काम करने वाले यूपी व बिहार के लोग अपने—अपने घरों की ओर चल दिए हैं। रोजाना सड़कों पर कई परिवार पैदल चलते हुए दिख जाएंगे। सरकारें रोज सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखने की बात कर रही हैं लेकिन लोग मान नहीं रहे हैं।

मजदूरों व दूसरे राज्यों के लोगों के लिए खाने—पीने का इंतजाम करने के बावजूद वे बच्चों के साथ पैदल ही सैकड़ों किलोमीटर की यात्रा पर निकल चुके हैं। शुक्रवार को भी हजारों लोगों की कतारें हाईवे पर देखी गई थीं। इसको देखते हुए प्रशासन ने इनके लिए बसों का इंतजाम किया। हालांकि, मुख्यमंत्री योगी अपील कर चुके हैं कि जो जहां है, वहीं पर रुक जाए।

बसों के इंतजाम का पता चलते ही शनिवार सुबह भीड़ कौशांबी पहुंच गई। उनके पहुंचने से दिल्ली और यूपी बॉर्डर पर दोनों तरफ स्थिति खराब होने लगी। इस पर गाजियाबाद प्रशासन ने बसों का इंतजाम किया। इस बीच यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग भी की गई। बसों के साथ ही यात्रियों के हाथ भी सैनिटाइज कराए गए। लेकिन इस बीस लोगा कोरोना के प्रति लापरवाही बरतते दिखे।

बसों से वहां जमा लोगों को उत्तराखंड, बरेली समेत कई जिलों में भेजा गया। जबकि दूर जाने वाले कम लोगों को वापस दिल्ली भेज दिया गया। अभी बॉर्डर खाली हुए थोड़ी ही दूर हुई थी कि एक बार फिर वहां हजारों लोग पहुंच गए। इस बारे में जब एडीएम सिटी शैलेंद्र कुमार सिंह को फोन किया गया तो उनका फोन नहीं उठा।