मुरादनगर हादसा अपडेट : निकाले जा चुके 38 लाेग दुर्घटना की जांच शुरू, FIR की तैयारी

|

Updated: 03 Jan 2021, 07:15 PM IST

मुरादनगर मामले में अब जांच शुरू हाे गई है। डिविजनल कमिश्नर मेरठ अनिता सी मेश्राम ने कहा है कि पूरे मामले की जांच शुरू हाे गई है। दाेषियाें के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हाेगी।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजियाबाद ( ghazibad news ) मुरादनगर में हुए हाद्से में रविवार शाम तक कर 38 लाेगाें काे बाहर निकाला जा चुका था। इसके बाद भी राहत टीमें मलबे में तलाश जारी रखें हुए थी। माैके पर पहुंची डिविजनल कमिश्नर मेरठ अनिता सी मेश्राम ने कहा कि पूरी घटना की जांच शुरू कर दी गई है। दाेषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: अंतिम संस्कार के बाद मौन धारण के कर रहे थे कि तभी हमेशा के लिए 'मौन' हो गईं 18 जिंदगियां

बतादें कि गाजियाबाद के मुरादनगर ( Muradnagar ) में श्मशान घाट की छत गिर गई थी। मलबे में करीब 40 लाेग दब गए थे। रविवार शाम तक मलबे से करीब 38 लाेगाें को निकाला जा चुका था। इनमें से 18 की माैत की पुष्टि हाे चुकी थी। इतनी बड़ी घटना के बाद प्रशासन ने पूरे मामले में जांच बैठा दी। आईजी मेरठ प्रवीण कुमार ने बताया कि एनडीआरएफ और डॉग स्कवायड की टीम लगी हुई है मृतकों के अवशेष तलाशें जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: गाजियाबाद: श्मशान की छत गिरी, 40 से अधिक लोग दबे, 18 की मौत, मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख की मदद

प्राथमिक पड़ताल में यह बात सामने आई है कि लिंटर का निर्माण हाल ही में अक्टूबर माह में ही किय गया था। प्रशासन मामले की जांच में जुट गया है। ठेकेदार और निर्माण कार्य से जुड़े अन्य लाेगाें के बारे में जानकारी प्राप्त की जा रही है।