Corona को हराने के लिए घर में रहे कैद, आवश्यक सामान की डोर-टू-डोर सप्लाई हुई शुरू

|

Updated: 27 Mar 2020, 09:52 AM IST

Highlights

. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के पूरे देश को किया गया है लॉकडाउन
. लोगों को जरुरत का सामान पहुंचाने के लिए प्रशासन ने उठाया कदम
. अब रिटेल स्टोर संचालकों के साथ मिलकर प्रशासन पहुंचाएगा घर घर सामान

 

गाजियाबाद। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के पूरे देश को लॉकडाउन किया हुआ है। गाजियाबाद में भी पूरी तरह लॉक डाउन हैं। जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात है। सामान ले जाने वालों के अलावा टेलीफोन, इंटरनेट, बिजली विभाग, मीडियाकर्मी एवं स्वास्थ्य विभाग आदि से जुड़े हुए लोगों को ही आने—जाने की इजाजत है। ऐसे में कुछ लोगों को खाने पीने की समस्या न आए, इसके लिए जिला प्रशासन ने नई योजना बनाई है। ताकि घर बैठे ही उनकी जरूरत का सामान उपलब्ध हो सके।

डीएम अजय शंकर पांडे ने बताया कि आवश्यक सामग्री व दूध ,सब्जी, डोर टू डोर पहुंचाने की योजना तैयार की है। बड़े स्तर रिलायंस, बिग बाजार, d-mart, मोर, मदर डेयरी आदि की हेल्प ली जा रही है। यह सभी मोबाइल फोन पर मिले ऑर्डर के अनुसार लोगों के घर तक सामान पहुंचाने का कार्य करेंगे। आरडब्ल्यूए की तरफ से अध्यक्ष या कोई भी नामित शख्स जो अपने आसपास के सभी लोगों की जरूरत को समझ सके और सामान मंगाने के लिए वह आर्डर कर सके । साथ ही सामान आने पर एक ही आदमी इनके पास तक जाएगा और वही जरूरतमंद लोगों को सामान पहुंचाएगा। समस्या आने पर 01202829040 पर कॉल कर कंट्रोल रूम को जानकारी दे सकते हैं।

इस योजना के बाद जरूरतमन्द लोगों को आसानी से समान भी मिल जाएगा। लोग कम संख्या में बहार निकलेंगे तो संक्रमण फैलने का खतरा बेहद कम होगा। जिलाधिकारी ने कहा है कि कोरोना वायरस बेहद गंभीर बीमारी है। जिसे हराना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि घर से कोई भी शख्स बाहर बेवजह ना निकले। घर का एक ही सदस्य बाहर जाकर सामान ला सकता है। उन्होंने कहा कि इस कोरोना वायरस की चैन को तोड़ने के लिए घर के अंदर ही रहना आवश्यक है।