Latest News in Hindi

पांच साल बाद आज भिड़ेंगी भारत और पाकिस्तान की टीमें, मुकाबले को तैयार है दोनों

By Prabhanshu Ranjan

Sep, 12 2018 04:48:48 (IST)

भारत को आज सैफ कप के सेमीफाइनल में पाकिस्तान से भिड़ना है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत-पाकिस्तान मैच हमेशा हाई-वोल्टेज होता है। आज के मैच में भी कुछ ख़ास हो सकता है इसकी पूरी गारंटी है ।

नई दिल्ली । रूस में आयोजित हुए इस बार के फीफा 2018 विश्वकप के दौरान भारत में दर्शकों में गजब का रोमांच देखने को मिला । भारतीय खेल प्रेमियों ने क्रिकेट के बराबर तो नहीं पर फुटबॉल को भी ढ़ेर सारे प्यार से नवाजा। दुनिया की 32 टीमों के बीच सम्पन्य हुए इस विश्वकप ने क्रोएशिया जैसी छोटी टीम ने अपने प्रदर्शन से सबको चौंका दिया । भारत में भी इस फुटबॉल विश्वकप की खुमारी बखूबी देखने को मिली । फुटबॉल को खेलने और देखने वालों की तादाद भारत में दिनों दिन बढ़ती जा रही है।और शायद यही कारण है की भारतीय फुटबॉल टीम अलग-अलग लेवल पर लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही है । भारत को आज सैफ कप के सेमीफाइनल में पाकिस्तान से भिड़ना है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत-पाकिस्तान मैच हमेशा हाई-वोल्टेज होता है। आज के मैच में भी कुछ ख़ास हो सकता है इसकी पूरी गारंटी है ।

पिछली बार 5 साल पहले भिड़े थे
आज भारत और पाकिस्तान की टीमें 5 साल बाद एक दूसरे के खिलाफ अधिकारिक मैच खेलेंगी। हालिया दिनों में भारत में फुटबॉल को लेकर जो जुनून देखने को मिल रहा है उस से खिलाड़ियों को एक अलग ही तरह को जोश मिलता है । और शायद यही कारण है की भारतीय टीम अलग अलग लेवल्स पर अपने पुराने प्रदर्शन को काफी पीछे छोड़ती जा रही है । अपने पिछले मैच में निखिल पुजारी और मनवीर सिंह के गोल की मदद से भारत ने रविवार को मालदीव को 2-0 से हराकर दक्षिण एशियाई फुटबॉल महासंघ कप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया था, जहां उसका सामना आज बुधवार को शाम 7 बजे चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होने वाला है ।

" हार" दुनिया के अंत की तरह
पिछली बार दोनों टीमें काठमांडू में 2013 में हुई सैफ चैम्पियनशिप में ही एक दूसरे से भिड़ीं थीं जिसमें भारत ने 1-0 से जीत दर्ज की थी। अगर भारत आज पाकिस्तान को हरा देता है तो उम्मीद कि जा रही है खिताबी मुकाबले में उसका सामना नेपाल की टीम से होगा । तीन बार (1997, 1999, 2005) के सैफ चैम्पियन भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी वेंकटेश ने पाकिस्तान के खिलाफ सात मैच खेले हैं जिसमें से उनके रहते केवल एक में भारतीय टीम हारी थी। वेंकटेश ने कहा, "मैंने पाकिस्तान के खिलाफ सात मैच खेले और एक बार हारा। यह हार 2005 में मैत्री कप में मिली थी। उस टूर्नामेंट में हमने दूसरे दो मैच खेले और जीते। सीरीज 1-1 से समाप्त हो गई लेकिन हार के बाद यह हमारे लिए दुनिया के अंत की तरह था।"

Related Stories