चूड़ी टूटने को लेकर हुए विवाद में युवक की हत्या के बाद व्यापारियों ने बंद कराया बाजार, पुलिस फोर्स तैनात

|

Published: 28 Oct 2020, 12:13 PM IST

— थाना दक्षिण क्षेत्र के बड़ी छपैटी का है मामला, फायरिंग होने से हुई थी युवक की मौत।

फिरोजाबाद। चूड़ी टूटने को लेकर सुहागनगरी में हुई फायरिंग और पेट्रोल बंब, पथराव में एक युवक की मौत हो गई जबकि दो घायल हो गए। इस घटना के दूसरे दिन व्यापारी संगठनों ने घटना को लेकर रोष व्यक्त करते हुए बाजार बंद करा दिया और सड़कों पर निकल आए। व्यापारियों ने थानाध्यक्ष के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। माहौल को देखते हुए मौके पर काफी संख्या में पुलिस और पीएसी तैनात कर दीगई है।

यह हुआ था मामला
मंगलवार रात्रि थाना दक्षिण क्षेत्र बडी छपैटी पर संजय गुप्ता के गोदाम का माल एक टिर्री वाला उतार रहा था। इस दौरान जहां टिर्री वाला खड़ा था वहीं एक चूड़ी का गोदाम भी था। उसका वाहन बाहर खड़ा था जिसमें चूड़ियां लदी हुई थी। टिर्री निकालते समय चूड़ियां टूट गई थीं। इसी बात को लेकर गोदाम से आये व्यक्ति व टिर्री वाले में विवाद हो गया। जिसे एक बार बाहर आकर संजय गुप्ता ने समझा बुझाकर शांत कर दिया था। इसके बाद दूसरे पक्ष से लोग आ गये और पथराव, फायरिंग करते हुए पेट्रोल बंब छोड़े गए। इस घटना में अमित गुप्ता नामक युवक की मौत हो गई थी जबकि दो घायल हो गए थे।

यह बोले व्यापारी
बुधवार सुबह बाजार बंद कराते हुए व्यापारी संगठनों के पदाधिकारियों ने आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करते हुए थानाध्यक्ष को बर्खास्त करने की मांग की। लोगों का कहना था कि अवैध हथियार कैसे पहुंचे। व्यापार मंडल के जिला महामंत्री सुनील गुप्ता ने कहा कि कल की दुखद घटना हुई है, उसकी घोर निंदा करते हैं। प्रशासन से मांग करते हैं कि इस प्रकार का अवैध असलाह वहां कैसे जमा हो गया। उक्त क्षेत्र में आपराधिक प्रवृत्ति के लोग पनप रहे हैं। निश्चित रूप से योजनाबद्ध तरीके से घटना को अंजाम दिया गया है। हमारी मांग यही है कि आखिर अपना जीवन सुचारू रूप से कैसे जिये, हर घर की तलाशी लें जिसके घर में असलाह मिले उसे गिरफ्तार करें। व्यापारी समाज का उत्पीड़न कब तक होगा। थानाध्यक्ष की बर्खास्तगी होनी चाहिये, प्रशासन की घोर लापरवाही है। साथ ही साथ जितनी मिश्रित आबादी हैं वहां पुलिस पिकेट लगना चाहिये। वहीं माथुर वैश्य समाज के लोगों ने भी कहा उक्त क्षेत्र के थानाध्यक्ष की बर्खास्तगी होनी चाहिये। मृत युवक कर परिजनों को 25 लाख मुआवजा की भी मांग की गई।