चचेरे भाई के बेटों के नाम दो बीघा जमीन का बैनामा करने पर भतीजे ने की ताऊ की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या, आरोपी फरार

|

Published: 02 Jun 2020, 10:25 AM IST

- अविवाहित ताऊ की जमीन को हड़पना चाहता था भतीजा, पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी।

फिरोजाबाद। दो बीघा जमीन का दूसरों के नाम बैनामा करने से भड़के भतीजे ने अविवाहित ताऊ की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी। आरोपी मौके से भागने में सफल हो गया। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। भतीजा ताऊ की जमीन को हड़पना चाहता था लेकिन ताऊ उसे अपनी जमीन नहीं देना चाहता था। इसलिए बैनामा करने के बाद ताऊ जैसे ही वापस लौटा, भतीजे ने हमला बोल दिया।

यह भी पढ़ें—

फिरोजाबाद के कोरोना मरीज की आगरा में मौत, सात नए केस के साथ आंकड़ा बढ़कर हुआ 268

जसराना थाना क्षेत्र का मामला
गांव पचवा में रहने वाले 70 वर्षीय राजबहादुर तीन भाई थे। तीनों में से सिर्फ छोटे लाल की शादी हुई थी। छोटे लाल की मौत के बाद राजबहादुर ने सगे भतीजों ने उन्हें घर से निकाल दिया, जिसके बाद वह अपने चचेरे भाइयों के बेटों के साथ रह रहे थे। राजबहादुर के हिस्से में गांव में सोलह बीघा जमीन आई थी। इसमें से पांच बीघा वे पहले चचेरे भाई के बेटों के नाम कर चुके थे। सोमवार को वह चचेरे भाई के बेटे दीपक राघव के नाम दो बीघा जमीन का बैनामा कर घर लौटकर बैठे थे। दोपहर लगभग एक बजे सगा भतीजा कुल्हाड़ी लेकर पहुंचा और बुजुर्ग पर ताबड़तोड़ हमला कर उनकी हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें—

आंधी और बारिश से सुहागनगरी में आफत, कहीं गिरे पेड़ और मकान तो कहीं विद्युत खंबे धराशाही

आरोपी फरार
वृद्ध की चींखपुकार सुनकर परिवार की महिलाएं दौड़ी, लेकिन तब तक रामू भाग चुका था। दिन दहाड़े बुजुर्ग की हत्या की सूचना पर एसपी ग्रामीण राजेश कुमार, सीओ जसराना बल्देव सिंह खनेड़ा फोर्स के साथ पहुंचे और जानकारी ली। सीओ ने बताया कि रामू ताऊ की जमीन को अपने नाम कराना चाहता था लेकिन उन्होंने दीपक के नाम कर दी। आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही है। रामू को सुबह पता चला कि ताऊ बैनामा करने गया था। वह सुबह उनके घर पहुंचा, लेकिन तब तक वे जा चुके थे। दोपहर में जब वह लौटकर आए तो वह फिर से पहुंच गया और बरामदे में अकेला पाकर ताबड़तोड़ हमला बोल दिया। बुजुर्ग राजबहादुर उसका विरोध भी नहीं कर पाए और मौके पर ही मौत हो गई।