शिक्षा भर्ती घोटाला: दो शिक्षिकाएं और एक पैन कार्ड, हड़कंप

|

Published: 03 Jul 2020, 10:39 AM IST

— फिरोजाबाद में खुला शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े का एक और राज, मानव संपदा पोर्टल पर चल रही फीडिंग के दौरान सामने आया मामला।

फिरोजाबाद। शिक्षा विभाग में घोटाला यूं ही नहीं हुआ है। शातिरों ने सोची समझी साजिश के तहत इस काम को अंजाम दिया है। कहीं एक शिक्षिका कई जिलों में नौकरी करती पाई गई तो कहीं एक ही पैन नंबर पर दो शिक्षिकाओं द्वारा सेलरी लिए जाने का मामला सामने आ रहा है। फिरोजाबाद में भी एक ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है।

यह है पूरा मामला
फिरोजाबाद जनपद में इन दिनों मानव संपदा पोर्टल पर शिक्षकों की आॅनलाइन फीडिंग कराई जा रही है जिससे फर्जीवाड़ा कर नौकरी पाने वाले शिक्षकों को चिन्हित किया जा सके। जिले के शिकोहाबाद ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय सुजावलपुर में तैनात प्रधानाध्यापिका हेमलता का पैन कार्ड जैसे ही फीड़ किया गया। कंप्यूटर में हमीरपुर के धगवां गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय में तैनात सहायक अध्यापिका हेमलता का डाटा आ गया। इस मामले की जानकारी बीएसए हमीरपुर को दी गई। हमीरपुर बीएसए ने शिक्षिका को मूल अभिलेख सहित तलब किया है। हमीरपुर जनपद में शिक्षिका बीएसए कार्यालय पहुंच गई। हमीरपुर बीएसए ने फिरोजाबाद बीएसए को शिक्षिका हेमलता के शैक्षिक प्रमाण पत्र भेजे हैं।

दोनो शिक्षिकाओं के प्रमाण पत्रों की होगी जांच
दोनों जनपदों में शिक्षिका हेमलता को बीएसए द्वारा तलब किया गया था। बताया गया है कि हमीरपुर जनपद में तैनात शिक्षिका तो बीएसए के समक्ष पहुंच गई। लेकिन फिरोजाबाद बीएसए द्वारा जांच के लिए बुलाई गई शिक्षिका हेमलता उपस्थित नहीं हुई। फिरोजाबाद और हमीरपुर जिले में तैनात दोनों शिक्षिकाओं के शैक्षिक प्रमाण पत्रों का मिलान किया जाएगा। जन्मतिथि और पैन नंबर एक ही है। फिरोजाबाद की हेमलता ने दिसंबर 2009 में ज्वाइन किया। जबकि हमीरपुर की शिक्षिका ने अक्तूबर 2009 को तैनाती पाई थी। पैन नंबर एक होना गंभीर बात है।

यह बोले जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी
बीएसए अरविंद पाठक ने बताया कि शिक्षिका के नाम, जन्मतिथि एक हो सकती है लेकिन पैन कार्ड एक होना संदेहजनक है। शिक्षिका को नोटिस जारी कर जांच करा रहे हैं। शिकोहाबाद में तैनात शिक्षिका को बुलाया, लेकिन वह नहीं आई। जांच के बाद ही देखा जाएगा कि गलती किस स्तर पर है।