Loan Moratorium Extension : HDFC और Axis Bank ने दी Customers को EMI से राहत

|

Updated: 02 Jun 2020, 12:42 PM IST

  • दोनों प्राइवेट बैंकों ने लोन Loan Moratorium को 31 अगस्त तक किया Extend
  • पहले से Loan Moratorium लेने वालों को भी दोबारा से करना होगा अप्लाई

नई दिल्ली। देश के दो सबसे बड़े प्राइवेट बैंकों ने अपने ग्राहकों ईएमआई ( EMI ) से राहत देते हुए 31 अगस्त तक लोन मोराटोरियम पीरियड ( Loan Moratorium Period ) को बढ़ा दिया है। ग्राहकों को टर्म लोन की ईएमआई ( Term Loan EMI ) और क्रेडिट कार्ड बिल ( Credit Card Bills ) के भुगतान के लिए अब तीन महीने के लिए मोहलत मिल गई है। इससे कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। आइए आपको बताते हैं कि आखिर दोनों बैंकों की ओर से क्या घोषणाएं की गई हैं।

Moodys ने भारत को दिया बड़ा झटका, 22 साल के बाद कम की Sovereign Rating

दोबारा से करना होगा अप्लाई
एचडीएफसी के अनुसार मार्च से मई तक मोराटोरियम लेने वालों को भी नए सिरे से आवेदन करना होगा।
- मोराटोरियम का विकल्प चुनना चाहते हैं तो फिलहाल एक माह के लिए इसका चुनाव कर सकते हैं।
- अगर वित्तीय हालत में सुधार नहीं होता है तो फिर से जुलाई, अगस्त के लिए अप्लाई किया जा सकता है।

जानिए सरकार के फैसले के बाद किस फसल पर किसान को होगी ज्यादा कमाई

वेबसाइट पर होगा अप्लाई
- लोन मोराटोरियम के लिए अप्लाई बैंक की वेबसाइट पर जाकर किया जा सकता है।
- बैंक की वेबसाइट पर जाकर आपको मोराटोरियम ऑप्ट करने का विकल्प चुनना होगा।
- मोराटोरियम को ऑप्ट नहीं करना चाहते हैं तो आपको कुछ भी करने की जरूरत नहीं।
- ड्यू डेट पर अकाउंट से ईएमआई की राशि की राशि कट जाएगी।

55 करोड़ अन्नदाताओं के लिए बड़े ऐलान, 7 करोड़ किसानों को कर्ज के ब्याज पर राहत

RBI ने की थी घोषणा
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने एक सप्ताह पहले लोन मोराटोरियम को आगे बढ़ाने की घोषणा की थी। बैंक अपने रिटेल ग्राहकों को ईएमआई का भुगतान अगस्त तक नहीं करने की छूट दे रहे हैं। सबसे पहले देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ओर से लोन मोराटोरियम एक्सटेंशन किया था।