Kotak और Axis Bank का Cox And Kings पर 1200 रुपए की धोखाधड़ी का आरोप

|

Updated: 09 Aug 2020, 04:51 PM IST

  • मीडिया रिपोर्ट के अनुसार Economic Offenses Wing of Mumbai Police में चल रही है शिकायत की जांच
  • आरोप के अनुसार कई Offshore Companies के माध्यम से की करोड़ों रुपयों की धोखाधड़ी

नई दिल्ली। इंडसइंड बैंक ( Indusind Bank ) के बाद अब देश के दो और बड़े बैंकों कोटक महिंद्रा बैंक ( Kotak Mahindra Bank ) और एक्सिस बैंक ( Axis Bank ) ने ट्रैवल कंपनी कॉक्स एंड किंग्स ( Cox And Kings ) पर 1200 करोड़ रुपए से ज्यादा की धोखाधड़ी का आरोप ( Fraud Charges ) लगाया है, जिस पर मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ( Economic Offenses Wing of Mumbai Police ) यानी इकोनॉमिक ऑफेंस विंग की ओर से जांच भी शुरू कर दी है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अभी इन आरोपों के बाद ट्रैवल कंपनी पर एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। वहीं मीडिया रिपोर्ट में कॉक्स एंड किंग्स के निदेशक और सीईओ अजय पीटर केरकर ने बताया है कि यह एक जांच है।

यह भी पढ़ेंः- Inflation Rate और Industrial Index पर रहेगी Share Market Investors की नजर

एक्सिस और कोटक के आरोप
एक्सिस बैंक ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि लोन लेने के बाद कॉक्स एंड किंग्स और दूसरी कंपनियों के कुछ पदाधिकारियों ने बैंक को 1,030 करोड़ रुपए का धोखा दिया, जो चुकाया नहीं गया। वहीं दूसरी ओर कोटक महिंद्रा बैंक ने आरोप लगाया कि ट्रैवल कंपनी ने बैंकों, फाइनेंशियन इंस्टीट्यूशंस और पब्लिक इंवेस्टर्स से कई गुना लेनदेन सहायक कंपनियों और फर्जी कंपनियों के माध्यम से कई गुना ट्रांजेक्शंस करने में कामयाब रही। बैंक ने कहा कि उसने 2012 से कॉक्स एंड किंग्स के लिए फाइनेंशियल सर्विस का विस्तार किया और 24 जून, 2019 तक बकाया राशि 174.3 करोड़ रुपए थी।

यह भी पढ़ेंः- PM Modi के Booster Dose से Agriculture Sector में कैसे होगा सुधार, जानिए यहां

बैंकों द्वारा कराए ऑडिट में हुआ बड़ा खुलासा
डिफ़ॉल्ट के बाद बैंकों ने फॉरेंसिक ऑडिट करने का काम प्राइसवाटरहाउस-कूपर्स को सौंपा। फॉरेंसिक कंपनी की दो रिपोर्ट में पाया गया कि ट्रैवल कंपनी के कुछ पदाधिकारियों की अनियमितता और धोखाधड़ी की गई है। कोटक के लिए पीडब्लूसी की पहली ड्राफ्ट रिपोर्ट में कहा गया है कि बैंक को जिन 15 कंपनियों से 449 करोड़ रुपए मिले हैं वो पूरी तरह से फर्जी थीं। इन कंपनियों के एड्रेस एक ही दिन में बनाए गए थे और जो पते दिए गए थो वो कंपनियां वहां नहीं थी।

यह भी पढ़ेंः- IPL 2020 के साथ Patanjali कर रहा हैं Trend, जानिए सबसे बड़ी वजह

अभी तक नहीं हुई एफआईआर
दोनों मामलों के लिए एफआईआर दर्ज होना बाकी है। कोटक और एक्सिस द्वारा दो शिकायतों को मिलाकर अब ट्रैवल कंपनी के खिलाफ ऐसी शिकायतें सामने आ चुकी हैं। इन दो शिकायतों से पहले इंडसइंड बैंक द्वारा 239 करोड़ रुपए के डिफॉल्ट की शिकायत के आधार पर प्रारंभिक जांच पहले से ही चल रही है। अब देखना दिलचस्प होगा कि कॉक्स एंड किंग्स के खिलाफ कोई और बैंक सामने आता है या नहीं।