कोरोना वायरस की वजह से बढ़ सकती है इन जरूरी कामों की लास्ट डेट

|

Updated: 22 Mar 2020, 11:16 AM IST

  • विवाद से विश्वास स्कीम से लेकर रिटर्न फाइलिंग तक की लास्ट डेट है 31 मार्च
  • कोरोना के बढ़ते प्रकोप से तमाम कामों की लास्ट डेट में हो सकता है इजाफा

नई दिल्ली। वित्तीय वर्ष का आखिरी कारोबारी दिन 31 मार्च होता है। यह ऐसा दिन है जब बहुत से सरकारी योजनाओं, स्कीम्स, आदि की फीस, पैनल्टी जमा कराने का आखिरी दिन होता है। इसी दिन से पहले लोगों को अपना रिटर्न फाइल करने को भी कहा जाता है, तो इसी काफी काम खत्म करने का आखिरी दिन भी होता है। कई कामों को ऑनलाइन नहीं कराया जा सकता है, इसके लिए आपको संबंधित विभाग के ऑफिस में जाना ही पड़ता है। इस कोरोना वायरय का प्रकोप काफी बढ़ा हुआ है। कई सरकारी दफ्तरों में वर्क फ्रॉम होम कर दिया है। वहीं प्राइवेट सेक्टर में भी ऐसे ही हालात है। जिसकी वजह से कई कामों की लास्ट डेट को बढ़ाने की मांग उठ रही है। इनकम टैक्‍स इम्‍प्‍लॉई फेडरेशन और इनकम टैक्‍स गजेटेड ऑफिसर्स एसोसिएशन ने सीबीडीटी के चेयरमैन को फाइनैंशल ईयर की मियाद बढ़ाकर 30 अप्रैल करने की मांग की है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर किन कामों की आखिरी डेट को बढ़ाए जाने की संभावना है।

पैन और आधार लिंक की डेट
पैन कार्ड और आधार कार्ड को लिंक कराने की आखिरी तारीख 31 मार्च तय की गई है। अगर आपने अभी इसे लिंक नहीं कराया है तो आपको काफी समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया जा सकता है। अब कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से इसकी डेडलाइन को और बढ़ाया जा सकता है। वैसे यह पहली बार नहीं होगा अगर पैन-आधार लिंक की डेट को आगे बढ़ाया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः- इन सेक्टर्स को कोरोना वायरस से बचाने के लिए सरकार ने खोली तिजोरी

पीएम आवास योजना की क्रेडिट सब्सिडी योजना
वहीं दूसरी ओर पीएम आवास योजना के तहत क्रेडिट सब्सिडी का फायदा लेने की अंतिम तारीख भी 31 मार्च की ही है। मगर आरबीआई की ओर से कोरोना वायरस को देखने को हुए लोगों को बैंकों में जाने से मना किया हुआ है, अगर कोई जरूरी काम ना हो तो। बैंक में जाए बिना इसका लाभ मिलना मुश्किल है। इसकी वजह से इस योजना की अंतिम तारीख को बढ़ाने की संभावना देखी जा रही है।

यह भी पढ़ेंः- Janta Curfew के दिन भी आम लोगों को नहीं मिली पेट्रोल और डीजल की कीमत से राहत

टैक्स से जुड़े मामलों की तारीख
रिवाइज्ड रिटर्न फाइलिंग और लेट रिटर्न फाइल करने की तारीख भी 31 मार्च ही है। अगर इन्हें समय पर फाइल ना किया गया तो रिटर्न में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं जो लोग अपने टैक्स से जुड़े मामलों का निपटारा चाहते हैं उनके लिए विवाद से विश्वास स्कीम की मियाद भी 31 मार्च ही हैं। ऐसे में इन तमाम टैक्स से जुड़े मामलों की लास्ट डेट को आगे बढ़ाने की मांग हो रही है।