Bank Customers के लिए जरूरी खबर, इस गलती के कारण हो सकता है भारी नुकसान

|

Updated: 01 Aug 2020, 11:36 AM IST

-Bank Rule Change From 1 August: एक अगस्त यानी आज से बैंक से जुड़े कुछ नियमों में बदलाव हुए हैं।
-ऐसे में अगर आपने ध्यान नहीं दिया, तो आपको नुकसान हो सकता हैं।
-देश के 4 बैंकों ने बैंकिंग ट्रांजैक्‍शन ( Banking Transaction ) जुड़े नियमों में बदलाव किए हैं।
-इनमें एक्सिस बैंक ( Axis Bank ), बैंक ऑफ महाराष्ट्र ( Bank of Maharashtra ), कोटक महिंद्रा बैंक और आरबीएल बैंक ( RBL Bank ) शामिल हैं। ये बैंक न्यूनतम बैलेंस ( Minimum Balance ) और नकद निकासी पर चार्ज वसूलने की तैयारी में है।

नई दिल्ली।
Bank Rule Change From 1 August: एक अगस्त यानी आज से बैंक से जुड़े कुछ नियमों में बदलाव हुए हैं। ऐसे में अगर आपने ध्यान नहीं दिया, तो आपको नुकसान हो सकता हैं। देश के 4 बैंकों ने बैंकिंग ट्रांजैक्‍शन ( Banking Transaction ) जुड़े नियमों में बदलाव किए हैं। इनमें एक्सिस बैंक ( Axis Bank ), बैंक ऑफ महाराष्ट्र ( Bank of Maharashtra ), कोटक महिंद्रा बैंक ( Kotak Mahindra Bank ) और आरबीएल बैंक ( RBL Bank ) शामिल हैं। ये बैंक न्यूनतम बैलेंस ( Minimum Balance ) और नकद निकासी पर चार्ज वसूलने की तैयारी में है। हालांकि, यह चार्ज मेट्रो और शहरी इलाकों में अलग-अलग होगा।

बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र ने मिनिमम बैलेंस के नियमों में बदलाव करते हुए न्यूनतम बैलेंस की राशि बढ़ा दी है। इससे अब सेविंग अकाउंट में ज्‍यादा मिनिमम बैलेंस रखना होगा। बैंक में पहले जहां 1,500 रुपये मिनिमम बैलेंस रखना होता था, अब इसे बढ़ाकर 2,000 रुपये कर दिया है। इससे कम बैलेंस होने पर पर मेट्रो और शहरी इलाकों में 75 रुपये, semi urban इलाकों में 50 रुपये और ग्रामीण शाखाओं में 20 रुपये जुर्माना लगेगा।

आज से एक बार फिर लागू होगा पुराना नियम, सैलरी से कटेगा 12 फीसदी EPF

कोटक महिंद्रा बैंक ने भी मिनिमम बैलेंस ना रखने पर जुर्माना वसूलने की तैयारी कर ली है। हालांकि, खाते पर निर्भर करेगा कि वह सेविंग है या सैलरी, उसके हिसाब से चार्ज लगेगा। इसके अलावा हर 4 ट्रांजैक्‍शन के बाद हर विड्रॉल पर 100 रुपये फीस लगेगी।

Axis bank के ग्राहकों को अब हर ECS पर चार्ज देना होगा। बता दें कि इसके लिए पहले कोई चार्ज नहीं देना पड़ता था। इसके अलावा बैंक ने लॉकर पर भी अतिरिक्त चार्ज लगाना शुरू किया है। इसके बाद बैंक प्रति बंडल 100 रुपये की कैश हैंडलिंग फीस लेगा। साथ ही हर नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्‍शन पर पैसा कटेगा। पर्याप्‍त बैलेंस न होने पर मर्चेंट आउटलेट या वेबसाइट या ATM पर फेल्‍ड ट्रांजैक्‍शन पर फीस वसूली जाएगी।

इन तीन Banks का हो सकता है Privatization, कहीं आपका तो नहीं इनमें Account

RBL बैंक सेविंग खाते में 1 लाख रुपये तक जमा पर 4.75 फीसदी सालाना ब्याज मिलेगा। वहीं, 1-10 लाख रुपये तक जमा पर 6 फीसदी और 10 लाख रुपए से 5 करोड़ रुपये तक के जमा पर 6.75 फीसदी ब्याज मिलेगा। इसके अलावा डेबिट कार्ड गुम होने जाने पर 200 रुपये चार्ज देना होगा। ग्राहक 1 माह में ATM से 5 बार फ्री में कैश निकाल सकते है।