काली, काली अमावस की रात में, काली निकली कल भैरव के साथ में

|

Published: 13 Oct 2018, 12:13 PM IST

जनजागृति दुर्गोत्सव समिति के देवी जागरण में उमड़े देवीभक्त

बालाघाट। इस वर्ष भी नगरीय क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 32 झांसी रानी चौक में शारदेय नवरात्र का पर्व पूरी आस्था, उमंग, उत्साह और श्रद्धा के साथ मनाया जा रहा है। शारदेय नवरात्र के दूसरे दिन 11 अक्टूबर को जनजागृति दुर्गोत्सव समिति द्वारा खैरागढ़ के जय सांई कृपा देवी जागरण का आयोजन किया गया था। जिसकी शुरूआत जनजागृति दुर्गोत्सव समिति अध्यक्ष संजय भाऊ अग्रवाल, ललित पारधी, हीरासिंघ भाटिया, अरूण राहंगडाले, लक्ष्मीनारायण, पप्पु सैनिक और वीरू सूर्यवंशी सहित समिति के सदस्यों द्वारा मातारानी की ज्योत जलाकर देवी जागरण कार्यक्रम की शुरूआत की गई।
देवी जागरण में गायक प्रशांत डहरवाल और सहयोगी गायक कलाकारों ने देवी भक्तों ऐसी प्रस्तुति दी कि देवीभक्त देवीगीतों पर झूमने लगे। गणेश वंदना और मातारानी की आराधना से प्रारंभ हुई देवीगीतों की श्रृंखला में झूलेलाल झूला दो मेरी मांॅ और काली, काली अमावस की रात में, काली निकली कलभैरव के साथ में जैसे देवीगीतो ने देवीभक्त श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। हालांकि आचार संहिता के चलते समय की बाध्यता के कारण धार्मिक कार्यक्रम का धर्मप्रेमी जनता ज्यादा आनंद नहीं ले सकी। लेकिन दो घंटे तक चले इस कार्यक्रम में देवीभक्त श्रोताओं की मौजूदगी ने कार्यक्रम को सफल बना दिया। देवीजागरण का समापन मातारानी की आरती के साथ किया गया। इसके बाद उपस्थित सभी देवीभक्त श्रोताओं को समिति की ओर से महाप्रसाद का वितरण किया गया।