Latest News in Hindi

Live video : पूरा दिन निराजल उपवास के बाद पतियों के कामना लिए सुहागन पहुँचीं शिव के दरबार

By Satya Prakash

Sep, 12 2018 10:11:50 (IST)

पतियों की कामना के लिए सुहागन महिलाये भादौ शुक्ल तृतीया को निराजल व्रत रख कर भगवान शिव व माता पार्वती की करती हैं पूजा

अयोध्या : भादौं शुक्ल तृतीया के पर्व को हरितालिका तीज या कजरी तीज के रूप में मनाया जाता है. ऐसी मान्यता हैं कि माता पार्वती ने भगवान शिव को अपना पति के रूप में पाने के लिए अन्न जल त्याग दी और भगवान शिव की आराधना करने लगी. जिसके कारण भगवान को विवश होकर माता पार्वती से विवाह करना पडा था जिसके कारण आज का यह दिन सुहागन महिलाओ के साथ युवतियों के लिए भी महत्वपूर्व मना जाता हैं. आज के दिन सुहागिन महिलाये अपने पति की लम्बी उम्र के लिए तथा इच्छित वर को प्राप्त करने की कामना से युवतियां निराजल उपवास रखकर भगवान शिव एवं माता पार्वती का पूजन करती है। .