चाइना की इकोनॉमी को आगे बढ़ाने के लिए बोले शी, कहा- जल्द होंगे व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर

|

Updated: 05 Nov 2019, 02:34 PM IST

  • आयात एक्सपो का आयोजन में पहुंचे शी जिनपिंग
  • फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों भी हुए शामिल

नई दिल्ली। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मंगलवार को अपनी अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने के बारे में बातचीत करते हुए दुनिया भर के सभी देशों को व्यापार को आगे बढ़ाने पर विचार करना चाहिए। इसके साथ ही जो भी बाधाएं बीच में आ रही हैं। उनको दूर करने पर ध्यान देना चाहिए। चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग ने शंघाई में आयोजित आयात प्रदर्शनी को संबोधित करते हुए यह सभी बातें कहीं। इस दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रों भी मौजूद रहे।


शी ने दी जानकारी

चीन ने अपने स्थानीय बाजारों को मुक्त बनाने की इच्छा जाहिर करने के लिए आयात एक्सपो का आयोजन किया। पिछले काफी समय से चीन को अपने बाजार पर नियंत्रण रखने के लिए आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। शी ने कहा कि विश्व समुदाय को 'बाधा खड़ी करने के बजाए उन्हें दूर करने की कोशिश करनी चाहिए , संरक्षणवाद को सख्ती से विरोध करना चाहिए और व्यापार बाधाओं को लगातार कम करने पर काम करना चाहिए।'


वैश्विक ग्रोथ को भी हो रहा नुकसान

आपको बता दें कि जल्द ही चीन और अमरीका के बीच व्यापार समझौता होने की संभावना है। शी के संबोधन के बाद फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों ने बातचीत करते हुए कहा है कि अमरीका-चीन व्यापार युद्ध से वैश्विक वृद्धि को नुकसान पहुंचेगा। उन्होंने उम्मीद जताई है कि दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाएं एक समझौते पर पहुंच सकती हैं। यह समझौता उनके साथ-साथ यूरोपीय संघ समेत अन्य व्यापारिक साझेदारों के हितों की भी रक्षा करेगा। मैक्रों ने अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप का नाम लिए बैगर एकतरफा कार्रवाई, शुल्क को हथियार के रूप में उपयोग करने जैसी चीजों का उल्लेख किया।


व्यापार सौदे पर हो सकते हैं हस्ताक्षर

उन्होंने कहा कि चीन को अपने बाजारों को खोलने में और तेजी लानी चाहिए और इसे पारदर्शी बनाना चाहिए। शी जिनपिंग ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि चीन समर्थित प्रस्तावित क्षेत्रीय व्यापार समझौते पर जल्द हस्ताक्षर हो सकते हैं। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के राष्ट्रपति शी को द्विपक्षीय व्यापार समझौते के पहले चरण पर हस्ताक्षर करने के लिए अमरीका आमंत्रित किया है। व्हाइट हाउस के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी है।