PATRIKA IMPACT: पत्रिका की खबर से खुले निर्माण के टेण्डर, PM की सभा में जारी हुआ 756 करोड़ रुपए का बजट

|

Published: 16 Mar 2018, 02:58 PM IST

फलासिया. झाड़ोल उपखण्ड क्षेत्र के ग्रामीणों के लिए श्राप व राजनैतिक छल की प्रतीक सिंगल पट्टी सडक से अब छुटकारा मिल जाएगा ।

हंसराज सरणोत/फलासिया. झाड़ोल उपखण्ड क्षेत्र के ग्रामीणों के लिए श्राप व राजनैतिक छल की प्रतीक सिंगल पट्टी सड़क से अब छुटकारा मिल जाएगा । राजस्थान पत्रिका द्वारा लगातार खबरें प्रकाशित कर दबाव बनाने के चलते सात माह पूर्व प्रधानमंत्री मोदी की उदयपुर सभा के दौरान सात वर्ष पूर्व ही नेशनल हाईवे घोषित हो चुकी इस सड़क के लिए केन्द्रीय मंत्री नीतिन गडकरी ने 756 करोड़ रूपए बजट स्वीकृति की घोषणा की थी। इस सडक निर्माण के लिए जारी किए गए साढ़े चार सौ करोड़ के दो पैकेज टेण्डर गुरूवार को खोल दिए गए। हाईवे अधिकारीयों ने जल्द कागजी औपचारिकताए पूर्ण कर संवेदक को कार्यादेश जारी कर अगले माह तक निर्माण कार्य प्रारंभ करवाने का भरोसा दिलाया हैं ।


दो माह पूर्व विभाग द्वारा जारी टेंडर के अनुसार कुंडाल से खोखरा तक 117 किलोमीटर की दूरी के लिए 410 करोड़ के दो टुकड़ों में निविदा आमंत्रित की गई थी । गुरूवार को सार्वजनिक निर्माण विभाग राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा कुंडाल से खोखरा नेशनल हाईवे 58 ई के डबल लेन निर्माण के लिए आमंत्रित की गई निविदायें खोल दी गई । विभाग द्वारा जारी की गई निविदा के अनुसार निर्माण कार्य को दो टुकड़ों में बांटा गया है । निविदा में कुंडाल से झाड़ोल की 58.03 किलोमीटर दूरी पर 191.25 करोड़ रुपए खर्च कर सडक़ निर्माण किया जाएगा वही झाड़ोल से खोखरा तक कि 59.695 किलोमीटर सडक़ के लिए 219.16 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे ।

 

READ MORE: राजस्थान अप्रधान खनिज रियायत नियमावली-2017 में संशोधन, खनन लीजों व ठेकों का ई-ऑक्शन अब एक ही चरण में

 

नेशनल हाईवे अधिकारीयों से मिली जानकारी के अनुसार उदयपुर से झाड़ोल पैकेज संवेदक एचजी ईन्फ्रा इन्जीनियर्स 2.16 प्रतिशत न्यून दर पर एवं झाड़ोल से खोखरा तक संवेदक राजेन्द्र सिंह भांबु ने 20.56 न्यून दर पर निविदा ली है । विभाग द्वारा इस मामले में संवेदकों से कागजी औपचारिकता पूर्ण कर कार्यादेश जारी करते हुए अगले माह तक निर्माण कार्य प्रारंभ करवा दिया जाएगा ।


--18 महीनों में होगा निर्माण, 4 साल तक करनी होगी देखरेख
विभाग द्वारा जारी की गई निविदा की शर्तों के अनुसार निर्माण कार्य अठारह महीनों की अवधि में पूर्ण किया जाना है । इसके अलावा संवेदक को चार सालों तक सडक़ की देखरेख व मरम्मत भी करनी पड़ेगी ।

 


--राजस्थान पत्रिका नेे लगातार खबरे प्रकाशित कर बनाया दबाव
झाड़ोल विधानसभा क्षेत्र की सबसे बडी समस्या उदयपुर-ईडर सिंगल पट्टी नेशनल हाईवे की दुर्दशा व सड़क के साथ हो रहे सौतेले व्यवहार को समय-समय पर राजस्थान पत्रिका ने प्रकाशित करते हुए सरकार व प्रशासन का ध्यान इस मामले की ओर आकर्षित किया ।


- झाड़ोल क्षेत्र में हाईवे निर्माण की प्रक्रिया के लिए भूमि अवाप्ति की फर्जी सूची वायरल हो जाने के बाद पत्रिका ने 17 जुलाई 2016 को सोशल मीडिया पर जज्बातों से खेल गया भूमाफिया शीर्षक से खबर प्रकाशित करते हुए हाईवे की तात्कालिक स्थिति के प्रति आमजन को जागरूक किया ।


-गत वर्ष 15 अक्टूबर 2016 को उदयपुर दौरे पर आए केन्द्रीय सडक मंत्री नीतिन गडकरी के दौरे के दिन ही कागजों में बन गया नेशनल हाईवे शीर्षक से खबर प्रकाशित करते हुए राजस्थान पत्रिका ने ना सिर्फ 498 टर्न मोड की जानकारी दी बल्कि हाईवे निर्माण के लिए प्रस्तावित 815 करोड का बजट तक स्वीकृत नहीं होने के बारे में भील अवगत करवाया । खबर की कटींग लेकर पहुंचे भाजपा नेताओं ने समस्या से गडकरी को अवगत करवाया जिस पर उन्होंने मौके पर ही हाईवे अधिकारीयों को एक माह में प्रक्रिया पूर्ण कर निर्माण कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए थे ।


-24 मार्च 2017 को पत्रिका ने झाड़ोल हाईवे के लिए भूमि अवाप्ति की तैयारी शीर्षक से खबर प्रकाशित करते हुए हाईवे निर्माण से पूर्व की प्रक्रिया प्रारंभ होने की जानकारी दी थी ।

- इस सडक का 3डी गजेट नोटिफीकेशन झाड़ोल उपखण्ड अधिकारी कार्यालय में अटका होने पर पत्रिका ने 19 मई 2017 को आठ उपखंडों में प्रक्रिया पूरी, झाड़ोल में अटके हाईवे शीर्षक से खबर प्रकाशित करते हुए हाईवे अधिकारीयों सहित क्षेत्र के सत्ता पक्ष व विपक्ष के नेताओं का भी ध्यान इस लापरवाही के प्रति आकर्षित किया ।


- गत माह 14जुलाई 2017 को उदयपुर यात्रा पर आए केन्द्रीय मंत्री नीतिन गडकरी का ध्यान सडक की दुर्दशा व हाईवे अधिकारीयों की लापरवाही के प्रति आकर्षित करते हुए पत्रिका ने केन्द्रीय मंत्री ने कहा था - एक महिने में शुरू करो काम, नो माह बाद भी बजट मिला, न हुई अवाप्ति शीर्षक से खबर प्रकाशित करते हुए धरातलीय स्थिति को आमजन के सामने पेश कर दिया ।


- नेशनल हाईवे 58ई की बदतर हालत पर 1 अगस्त 2017 को मुश्किलों भरा हो गया सैलानियों का सफर शीर्षक से खबर प्रकाशित करते हुए सडक की दूर्दशा के प्रति जिम्मेदारों को जगाने का प्रयास किया ।


- प्रधानमंत्री के दौरे से महज दो दिन पूर्व 27 अगस्त 2017 को एक मंत्री की घोषणा, दूसरे ने दिए निर्देश, तीसरे ने ओढ़ा जिम्मा, फिर भी सात साल में काम नहीं शीर्षक से खबर प्रकाशित कर सत्ता पक्ष के पदाधिकारीयों का उनकी नाकामी की ओर ध्यानाकर्षण कर भारी दबाव बना दिया ।


- राजस्थान पत्रिका के 27 अगस्त को खबर प्रकाशित होते ही क्षेत्र में खबर सोशल मीडिया पर खुब वायरल हुई और क्षेत्र के नेताओं पर आमजन ने जमकर भडास भी निकाली । पत्रिका ने प्रधानमंत्री के दौरे के दिन 29अगस्त 2017 को पीएम के आने से पहले वायरल रही हाईवे डिमांड शीर्षक से खबर प्रकाशित कर आमजन की भावनाओं को प्रधानमंत्री तक भी टवीट करते हुए पहुंचाने का प्रयास किया ।


- प्रधानमंत्री की सभा के मंच से केन्द्रीय मंत्री नीतिन गडकरी द्वारा हाईवे 58-ई के लिए बजट की घोषणा करने पर एनएच 58-ई के लिए 756 करोड़, गढ़ जीता झाड़ोल शीर्षक से खबर प्रकाशित कर राजस्थान पत्रिका ने क्षेत्रवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी थी । घोषणा होते ही क्षेत्र के ग्रामीणों ने इस कार्य के लिए राजस्थान पत्रिका को सोशल मीडिया पर धन्यवाद की झडी लगा दी थी ।


निविदाएं खोल दी गई हैं । दोनों ही पेकेज के संवेदकों से कागजी औपचारिकताएं पूर्ण करवा कार्यादेश जारी कर दिया जाएगा । अगले माह तक निर्माण कार्य प्रारंभ करवा दिया जाएगा ।
एस एल बुनकर, अधिशाषी अभियंता, सानिविरारा खण्ड उदयपुर