Mukesh Ambani ने बताया, देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए करना होगा यह काम

|

Updated: 20 Oct 2020, 12:13 PM IST

  • भारत 1991 के बाद हुए आर्थिक सुधारों के बाद मैन्युफैक्चरिंग पर दे रहा है पूरी तरह से जोर
  • मुकेश अंबानी ने कहा, एक समय था जब ज्यादा उत्पादन करने पर रिलायंस पर हुई थी कार्रवाई

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे अमीर लोगों की सूची में शुमार हो चुके रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने बताया कि कोरोना वायरस के मुश्किल दौर में किस तरह से देश को मौजूदा आर्थिक हालातों से निकालते हुए आत्मनिर्भर बनाया जा सकता है। उन्होंने देश और रिलायंस के इतिहास का जिक्र करते हुए कहा कि देश में मैन्युफैक्चरिंग पर ज्यादा से ज्यादा जोर देने की जरुरत होगी। देश में सामान तैयार होगा तो देश के लोगों को दूसरे देशों के सामान पर निर्भर रहने की जरुरत नहीं होगी।

यह भी पढ़ेंः- बिस्कुट बनाने वाली इस कंपनी को 45 मिनट में हुआ 4500 करोड़ का नुकसान, जानिए बड़ी वजह

जब रिलायंस पर लगा दिया गया था जुर्माना
मुकेश अंबानी ने एक ईवेंट पर बोलते हुए कहा कि उन्हें अब भी याद है कि उदारवाद से पहले के दौर में जब देश में लाइसेंस कानून का डंडा था तो लाइसेंस से ज्यादा उत्पादन करने के कारण रिलायंस पर जुर्माना लगा दिया गया था। उसके बाद 1991 में देश में आर्थिक सुधार देखने को मिले। जिसके बाद से देश में मैन्युफैक्चरिंग को समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आज जो कुछ भी किया जा रहा है वो ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्शन करने से जुड़ा हुआ है। जो इस बात की ओर संकेत करता है कि देश के लोगों की सोच मकं कितना फर्क देखने को मिल चुका है।

यह भी पढ़ेंः- Gold Rate Down : बाजार खुलते ही सोने के दाम में भारी गिरावट, जानिए कितना हुआ सस्ता

एमएसएमई में स्टार्टअप की जरुरत
मुकेश अंबानी के अनुसार देश में टेक सेक्टर में कई स्टार्टअप देखने को मिल चुके हैं। अब एमएसएमई को समर्थन देने की जरुरम है। देश के इस सेक्टर को स्टार्टअप की जरुरत है। अभी तक जितना टैक्नोलॉजी या ऑनलाइन स्टार्टअप के बारे में ध्यान दिया है अब उससे ज्यादा मैन्सुफैक्चरिंग इंडस्ट्री स्टार्टअप के बारे में ध्यान देना होगा।

यह भी पढ़ेंः- दीपावली से पहले देश के डेढ़ करोड़ किसानों को दिया बड़ा तोहफा, 1.35 लाख करोड़ रुपए जारी

उनके पिता के इस सवाल का जवाब है जियो
उन्होंने रिलायंस जियो के बारे में चर्चा की और अपने पिता धीरूभाई अंबानी के उस सवाल को याद किया जो उन्होंने कभी किया था। मुकेश अंबानी ने बताया कि उनके पिता ने काफी वर्ष पहले एक सवाल किया था। वो यह था कि वो कभी पोस्टकार्ड से भी कीमत पर फोन पर बात कर पाएंगे। जिस पर उन्होंने अब कहा है कि रिलायंस जियो उनके इसी सवाल का जवाब है। मुकेश अंबानी ने इस बात को कहकर इस ओर इशारा कर दिया है कि मौजूदा समय में जियो पोस्टकार्ड से भी कम कीमत पर कंयूनिकेशन की सुविधा मुहैया करा रहा है।

यह भी पढ़ेंः- Iphone 12 ने बनाया नया रिकॉर्ड, हर सेकंड 23 फोन की हुई Pre-Booking

मात्र 1000 रुपए लेकर आए थे मुंबई
मुकेश अंबानी ने बताया कि उनके पिता एक स्कूल मास्टर के पुत्र थे, जो 1000 रुपए के साथ अपनी आंखों में सपना लेकर मुंबई आए थे। वो दौर 1060 का था। उन्होंने इस बात तो तब सोचा कि अगर फ्यूचर ओरिएंटिड बिजनेस में निवेश किया जाए देश को काफी आगे की ओर से लेकर जा सकते हैं। उन्होंने इसी भरोसे के साथ दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में एक को तैयार किया। रिलायंस इंडस्ट्रीज ऊर्जा, कपड़ा, दूरसंचार और खुदरा उद्योग में काम कर रही है।