'One Nation One Ration Card' के बाद अब Health Card लाने जा रही मोदी सरकार, 15 अगस्त पर हो सकता है ऐलान

|

Updated: 08 Aug 2020, 07:36 PM IST

  • One Nation one health card scheme
  • 15 Aug को हो सकता है ऐलान
  • योजना के पहले चरण में इस पर 500 करोड़ का बजट रखा गया है

नई दिल्ली: 'One Nation One Ration Card' की तर्ज पर मोदी सरकार ( Modi Govt ) देश में 'One Nation one Health Card' लाने की तैयारी कर रही है। खबर तो यहां तक है कि आने वाले 15 अगस्त को केंद्र सरकार 15 अगस्त को राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन ( National Digital Health Mission ) का ऐलान कर देगी। इस स्कीम के तहत देश के हर नागरिक हेल्थ ID कार्ड (Health Card) तैयार किया जाएगा जिससे कि हेल्थ का डेटा एक प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हो सकेगा। योजना के पहले चरण में इस पर 500 करोड़ का बजट रखा गया है. लोगो की व्यक्तिगत जानकारी सिक्योर और प्राइवेट रहे इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा।

Jio Vs Vodafone : दशकों पुराना Vodafone को हराकर Reliance Jio बना अव्वल

क्या है 'वन नेशन वन हेल्थ कार्ड- One Nation one health card scheme के लागू होने से इलाज कराने के लिए आपको पर्चे और टेस्ट रिपोर्ट लेकर नहीं जानी पड़ेगी, बल्कि सभी का एक हेल्थ कार्ड होगा। जिसमें होने वाले ट्रिटमेंट और टेस्ट की पूरी जानकारी सेव होगी। डॉक्टर कहीं से भी बैठकर आपकी यूनिक आईडी के जरिए सारा मेडिकल रिकॉर्ड देख सकेगा।

कैसे काम करेगी ये स्कीम- इस स्कीम के तहत अस्पताल, क्लिनिक, डॉक्टर एक सेंट्रल सर्वर से लिंक रहेंगे. अस्पताल और नागरिकों के लिए अभी ये उनकी मर्जी पर निर्भर करेगा कि वो इस मिशन से जुड़ना चाहते है या नहीं। हर नागरिक का एक सिंगल यूनिक आइडी (Unique IDentity ) जारी होगा। उसी आधार पर लॉगिन होगा। सरकार से चरणबद्ध तरीके से लागू करेगी ।

अमेरिका में बैन से TikTok परेशान, कहा हमने कभी नहीं शेयर किया यूजर डेटा

यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि आधार कार्ड ( Aadhar Card ) के आधार पर हेल्थ कार्ड ( Health Card ) बनाने की सिफारिश की जाएगी, लेकिन इसके लिए आम नागरिकों को बाध्य नहीं किया जा सकेगा। यह पूरी तरह वैकल्पिक होगा।