आरबीआई ने दिए इकोनॉमी के बेहतर होने के संकेत, बताया कब होगी पॉजिटिव

|

Updated: 04 Dec 2020, 11:18 AM IST

  • तीसरी तिमाही के लिए 0.1 फीसदी और चौथी तिमाही के लिए 0.7 फीसदी का लगाया अनुमान
  • आरबीआई ने कहा, ग्रामीण मांग में सुधार की उम्मीद, शहरी मांग भी पकड़ रही है रफ्तार

नई दिल्ली। आरबीआई ने साफ कर दिया है देश की इकोनॉमी में सुधार हो रहा है। आरबीआई के अनुमानित आंकड़े इसी ओर इशारा कर रहे हैं। आरबीआई की ओर से साफ कर दियाा है कि 2021 के लिए भले ही वास्तविक जीडीपी विकास शून्य से 7.5 फीसदी अनुमानित है, लेकिन तीसरी और चौथी तिमाही में देश की जीडीपी 0 से उपर उठ सकती है। इसके लिए आरबीआई की ओर से अनुमान लगाया गया है।

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई एमपीसी की नीतिगत दरों में नहीं किया बदलाव, जानिए किनती होगी होम, ऑटो और पर्सनल लोन की दरें

कब होगी जीडीपी पॉजिटिव
आरबीआई के गर्वनर शक्तिकांत दास की ओर से जारी किए गए अनुमानित आंकड़ों के अनुसार देश की जीडीपी तीसरी और चौथी तिमाही में पॉजिटिव नोट में आ सकती है। आरबीआई की ओर से कहा गया कि तीसरी तिमाही में देश की जीडीपी जीरो से 0.1 फीसदी ज्यादा और चौथी तिमाही में 0 से 0.7 फीसदी ज्यादा हो सकती है। आरबीआई की ओर से यह अनुमान लगाया हैै। इसमें फेरबदल की भी गुंजाइश है।

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई एमपीसी की घोषणाओं से पहले शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 44700 के पार

मांग में हो रहा है सुधार
आरबीआई की ओर से यह पॉजिटिव नोट इसलिए दिखाया है, क्योंकि देश में मांग में सुधार देखने को मिल रहा है। आरबीआई के अनुसार ग्रामीण इलाकों मेंं मांग में सुधार देखने को मिला है। आने वाले दिनों में इसमें और ज्यादा तेजी देखने को मिल सकती है। वहीं दूसरी ओर शहरी मांग भी अपनी रफ्तार पकड़ रही है। जिसकी वजह से देश की जीडीपी में तेजी की संभावना दिखाई दे रही है।

यह भी पढ़ेंः- जानिए कितना सस्ता या महंगा सोना और चांदी, आ गए हैं ताजा दाम

सरकार की ओर जारीी हुए थे जीडीपी आंकड़े
हाल ही सरकार की ओर से वित्त वर्ष 2021 के लिए वास्तविक जीडीपी का अनुमान लगाया है। सरकार के आंकड़ों के अनुसार जीडीपी शून्य से 7.5 फीसदी नीचे रहने का अनुमान है। जबकि पहली तिमाही में यही विकास दर जीरो से 24 फीसदी नीचे था। अगर बात आरबीआई की करें तो उन्हें 9.5 फीसदी का अनुमान लगाया था। सरकार की ओर सेे आंकड़े जारी होने के बाद सभी को काफी हैरानी हुई थी।