सरकार ने तीसरी बार बढ़ाई BPCL के लिए बोली लगाने की तारीख, पूरी हिस्सेदारी बेच रही है सरकार

|

Published: 30 Jul 2020, 12:46 PM IST

  • एक बार फिर से बढ़ी BPCL में बोली लगाने की तारीख
  • 30 सितंबर तक लगा सकते हैं बोली
  • पिछले साल मिली थी हिस्सेदारी बेचने की मंजूरी

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी तेल रिफाइनरी कंपनी भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड ( Bharat Petroleum corporation Ltd ) यानी कि BPCL में राशि के लिए बोली लगाने की तारीख सरकार ने एक बार फिर से बढ़ा दी है । ऐसा मौका है जबकि सरकार ने बीपीसीएल के लिए बोली लगाने की तारीख को आगे बढ़ाया है । अब फिलहाल 30 सितंबर तक सरकार के इस उद्यम के लिए बोली लगाई जा सकती है सरकार अपनी पूरी हिस्सेदारी इस कंपनी में बेच रही है और इसे प्राइवेट हाथों में सौंपना चाहती है ।

सरकार के पास है 114.91 करोड के शेयर्स - आपको बता दें कि सरकार के पास बीपीसीएल में 114.91 करोड़ के शेयर्स है और सरकार इस कंपनी में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचने के लिए स्ट्रैटेजिक डिसइनवेस्टमेंट ( Disinvestment ) प्लान कर रही है । सरकार के शेष कंपनी की 52 फ़ीसदी हिस्सेदारी के बराबर हैं । जो भी कंपनी या बिजनेस हाउस खरीदेगा उन्हें कंपनी काम मैनेजमेंट भी ट्रांसफर कर दिया जाएगा ।

प्रधानमंत्री मोदी ने एक बार फिर की MSMEs की तरफदारी, बैंको को ज्यादा लोन देने की कही बात

बोली लगाने के लिए पूरी करनी होगी शर्तें - बीपीसीएल की हिस्सेदारी खरीदने के लिए कंपनी की नेटवर्थ 10 अरब अमेरिकी डॉलर होना जरूरी होगा । इसके पूरा करने पर ही कोई भी कंपनी डिसइनवेस्टमेंट की प्रक्रिया में भाग ले सकती है । ध्यान देने वाली बात यह भी है कि सरकार मैक्सिमम चार कंपनियों को बोली लगाने की इजाजत देगी और जो भी सदस्य इस काम में आगे रहते हैं उनको कम से कम 40 पीस दी की हिस्सेदारी खरीद ली होगी जबकि अन्य सदस्यों के पास कम से कम $1 अरब की नेटबर्थ होनी चाहिए

पहले भी डेट आगे बढ़ा चुकी है सरकार - भारत सरकार ने बीपीसीएल ( BPCL ) में अपनी हिस्सेदारी बेचने की घोषणा पिछले साल नवंबर में की थी बीपीसीएल के लिए बोलियां पहले 7 मार्च को ही मांगी गई थी ,bid submit करने की आखिरी तारीख 2 मई थी लेकिन 31 मार्च को लॉकडाउन ( Lockdown ) की वजह से सरकार ने से बढ़ाकर 13 जून कर दिया उसके बाद 26 मई को इसे बढ़ाकर 30 जुलाई किया गया और अब एक बार फिर से सरकार ने इसे आगे बढ़ाकर 30 सितंबर कर दिया है ।