अब सरकारी दफ्तरों में BSNL और MTNL का उपयोग करना हुआ अनिवार्य, सरकार ने जारी किए निर्देश

|

Updated: 14 Oct 2020, 04:12 PM IST

  • सरकारी क्षेत्र की इकाइयों को (BSNL) और (MTNL) सेवाओं का उपयोग करना होगा जरुरी
  • इन दूरसंचार कंपनियों को हो रहा है घाटा

नई दिल्ली। इन दिनों पूरे देश में रिलाएंस से लेकर बड़े ब्रांड की कपंनियों से यूजर्स काफी जुड़े हुए है क्योंकि ये कपंनियां तरह-तरह के ऑफर्स देकर ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब रही हैं। जिसके चलते भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (MTNL) की ओर लोगों का ध्यान हट चुका है। इन कपंनियों में आ रही तेजी से गिरावट के चलते अब केंद्र सरकार ने सभी मंत्रालयों, सरकारी विभागों और सरकारी क्षेत्र की इकाइयों को राज्य द्वारा संचालित भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (MTNL) की दूरसंचार सेवाओं को उपयोग करने निर्देश जारी करते हुए कहा है कि सभी सरकारी कार्यालयों में BSNL और MTNL का उपयोग किया जाना जरूरी है।
"भारत सरकार ने सभी मंत्रालयों / विभागों, CPSUs, सेंट्रल ऑटोमोनस ऑर्गनाइजेशन द्वारा बीएसएनएल और एमटीएनएल के उपयोग को अनिवार्य करने को मंजूरी दे दी है। बता दें कि यह निर्देश का पालने के लिए केंद्र के सभी सचिवों और विभागों को 12 अक्टूबर को ज्ञापन जारी कर दिए गए है।

इस ज्ञापन के जरिए दूरसंचार विभाग ने सभी मंत्रालयों / विभागों से अनुरोध किया है कि वे CPSUs / सेंट्रल ऑटोमोनस ऑर्गनाइजेशन को बीएसएनएल / एमटीएनएल नेटवर्क के अनिवार्य उपयोग के लिए इंटरनेट / ब्रॉडबैंड, लैंडलाइन और लीज्ड लाइन की सेवाओं लिए निर्देश दे। सरकार ने यह निर्णय दूरसंचार कंपनियों को हो रहे घाटे को देखते हुए लिया है।