विदेशी मुद्रा भंडार 560 अरब डॉल तक पहुंचा, अर्थव्यवस्था में मजबूत रिकवरी-FM

|

Published: 12 Nov 2020, 01:41 PM IST

  • दिवाली से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्फ्रेंस
  • आत्मनिर्भर भारत योजना से लोगों को मिल रहा फायदा- FM
  • वित्त मंत्री ने कहा- GST कलेक्शन बढ़े हैं

नई दिल्ली। पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस संकट से जूझ रहा है। इस महामारी के कारण देश की अर्थव्यवस्था भी पूरी तरह से चरमरा गई है। वहीं, दिवाली से ठीक पहले वित्त मंत्री ने देश को राहतभरी खबर दी है। उन्होंने कहा कि एक तरफ देश में कोरोना के मामले घट रहे हैं।

वहीं, दूसरी तरफ अर्थव्यवस्था में मजबूती से सुधार देखने को मिल रही है। वित्त मंत्री ने कहा कि अक्टूबर महीने में GST संग्रह वर्ष दर वर्ष आधार पर 10 फीसदी बढ़ा है। वहीं, बैंक ऋण में भी तकरीबन 5 प्रतिशत से ज्यादा का सुधार हुआ है। इसके अलावा कोविड-19 के दौरान विदेश निवेश और GST कलेक्शन बढ़े हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि ऊर्जा खपत में वृद्धि के रुझान भी मिले हैं।

वित्त मंत्री ने कहा कि शेयर बाजार रिकॉर्ड हाई पर है। साथ ही NPI का नेट निवेश पर पॉजिटिव रहा है। इसके अलावा विदेशी मुद्र भंडार 560 अरब डॉल के रिकॉर्ड पर पहुंच गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के तहत मजदूरों को काफी पायदे हुए हैं। साथ ही किसानों के लिए जो राहत फैकेज दिया गया, उसके भी अच्छे नतीजे सामने आए हैं।

सीतारमण ने कहा कि सरकार को किसानों को नाबार्ड के तहत इमरजेंसी कैपिटल फंड देगी। उद्योगों और डिस्कॉम को कर्ज देने के लिए तकरीबन 1,182,73 करोड़ रुपए 22 राज्यों में कर्ज के तौर पर बांटने के लिए दिए गए। FM ने कहा कि ECLGC स्कीम के तहत 61 लाख लोगों को लाभ मिला है। इसके तहत तकरीबन 1.52 लाख करोड़ रुपए बांटे गए हैं और 2.05 लाख करोड़ रुपए के कर्ज की मंजूरी सरकार ने दी है।