शहर के एटीएम में नहीं है कैश, नगदी के लिए परेशान

|

Published: 12 Mar 2018, 07:31 PM IST

एसबीआई, बीओआई, यूको बैंक की मशीने कैश ना होने से ठप, सर्विस टैक्स देकर भी उपभोक्ताओं को सुविधा के पड़े लाले

जशपुरनगर. अभी-अभी बीते होली के त्यौहार के दौरान और अब मार्च महिने में जब कोरोबारियों, टैक्स पेयर्स के साथ-साथ सामान्य लोगों को भी कैश की सर्वाधिक जरूरत होती है ऐसे में जिला मुख्यालय की अधिकांश एटीएम का इस वक्त बुरा हाल है। बैंकों की २४ घंटे नगद आहरण योजना बदहाली की कगार पर है। प्रमुख एटीएम के ठप हो जाने से शहर के गिने-चुने मशीनो में पैसा आहरण के लिए लंबी कतारें लग रही है। होली के त्योहार के दौरान बदहाल हुई एटीएम व्यवस्था से उपभोक्ताओं में भारी नाराजगी है। चौकाने वाली बात यह है कि जिला मुख्यालय का सबसे पुराना भारतीय स्टेट बैंक का प्रमुख एटीएम भी प्रभावित है। एटीएम में मशीन खराब होती रहती है और इसकी सूचना चस्पा कर दी जाती है। यहां हमेशा सिर्फ पैसा जमा करने की मशीन ही ठीक रहती है। कुछ ऐसी ही स्थिति एसबीआई के नजदीक में मौजूद बैंक ऑफ इंडिया(बीओआई) और यूको बैंक के एटीएम की है। उक्त तीनों बैंको की मशीने लंबे समय से बंद पड़ी है। त्योहारी सीजन और मार्च के महिने में एटीएम होने के बावजूद पैसा निकालने के लिए जूझ रहे उपभोक्ता इस असुविधा से त्रस्त हैं। यह हाल कमोबेश जिले के पत्थलगांव, फरसाबहार, तपकरा, दुलदुला, बगीचा, कुनकुरी सभी जगहों में देखने में आ रहा है।
सर्विस टैक्स पानी में - एसबीआई, बीओआई, यूको बैंक व अन्य बैंकों के परेशान उपभोक्ताओं का कहना है, बैंक उपभोक्ताओं से एटीएम सर्विस टैक्स सलाना वसूलता है। इस बिना पे उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा मिलनी चाहिए। लेकिन यहां आए दिन एटीएम ठप पड़ा रहता है, और बैंक प्रबंधन इसपर गंभीरता से ध्यान नहीं देता है। अपने बैंक के एटीएम के ठप होने से उपभोक्ताओं को दूसरे बैंक की मशीन का उपयोग अतिरिक्त चार्ज देकर करना पड़ रहा है। सर्विस टैंक दो बैंकों को देना पड़ रहा है। इस तरह एटीएम बंद होने से उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ती जा रही है।
बीओआई का बंद पड़ा एटीएम, लोग परेशान- एसबीआई के नजदीक ही स्थित बैंक ऑफ इंडिया का एटीएम कई महीनो से लगातार बंद पड़ा था इसे हाल ही में ठीक कर खोला गया था, यह अब फिर से खराब होने लगा है। इस बैंक में भी एटीएम कार्ड धारक उपभोक्ता हैं। उनके लिए बैंक प्रबंधन सामान्य दिनो के साथ ही त्योहार के दौरान सुविधाओं में कटौती कर रहा है। जिला मुख्यालय में बैंकों के धड़ाधड़ खुलने से लोगों में उत्साह रहा पर यह लगातार नहीं रह सका। बैंक की लापरवाही से उपभोक्तओं को एटीएम के लिए कहीं और का सहारा लेना पड़ रहा है।