नहीं बंद होगा 2000 रुपए के नोट, सरकार ने ले लिया है बड़ा फैसला

|

Updated: 11 Aug 2018, 01:32 PM IST

संसद में वित्त राज्यमंत्री पी राधाकृष्णन ने एक सवाल के जवाब में जानकारी देते हुए कहा कि 2000 रुपए के नोटों का वापस लेने या बंद करने कोर्इ प्रस्ताव नहीं है।

नहीं बंद होगा 2000 रुपए के नोट, सरकार ने ले लिया है बड़ा फैसला

नर्इ दिल्ली। शुक्रवार को सरकार ने 2000 रुपए के नोट बंद करने के सभी कयासों पर ब्रेक लगा दिया है। भारतीय रिजर्व बैंक ने 8 नवंबर 2016 को हुए नोटबंदी के दौरान 2000 रुपए आैर 500 रुपए के नए नोट जारी किए थे। संसद में वित्त राज्यमंत्री पी राधाकृष्णन ने एक सवाल के जवाब में जानकारी देते हुए कहा कि 2000 रुपए के नोटों का वापस लेने या बंद करने कोर्इ प्रस्ताव नहीं है। बताते चलें की संसद में सरकार से सवाल पूछा गया था कि क्या सरकार 2000 रुपए को बंद करने का प्लान बना रही है?


उन्होंने कहा कि स्पेसीफाइड बैंक नोट (एसबीएन) को या तो आरबीआर्इ, बैंक शाखा या पोस्ट आॅफिस से करेंसी चेस्ट मैकेनिज्म के जरिए प्राप्त किए गए थे। इसमें क्रमांक सटीकता आैर वेरिफिकेशन का जांच करना बाकी है। राधाकृष्णन ने आगे कहा कि, "इसके लिए सभी प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है आैर जिन नोटों की आॅनलाइन करेंसी वेरिफिकेशन आैर प्रोसेसिंग सिस्टम (सीवीपीएस) के तहत प्रोसेस किया गया है, उन्हें नष्ट कर दिया गया है। "


एक आैर सवाल के जवाब केंद्रीय मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि 2008 से 2014 के दौरान पब्लिक सेक्टर बैंकों ने जमकर उधार दिए हैं। आरबीआर्इ के डेटा के मुताबिक ये आंकड़ा 18.2 लाख करोड़ रुपए से बढ़कर 52.16 लाख करोड़ रुपए हो गया है। इसका सबसे बड़ा कारण बीते कुछ समय में विलफुल डिफाॅल्ट, लोन फ्राॅड आैर कुछ भ्रष्टाचार के मामले रहे हैं। साल 2015 में साफ सुथरा बैंक बैलेंस शीट के बारे में पता करने के लिए लाए गए एसेट क्वलिटी रिव्यू से पता चला है कि बैंकों में फंसे कर्ज (एनपीए) में भारी इजाफा हुआ है।

यह भी पढ़ें -

मोदी सरकार ने दिया बड़ा झटका, बकरीद से पहले लिया ये फैसला

100 रुपए की जगह ATM से निकला 500 रुपए की नोट, लोगों की हुर्इ बल्ले-बल्ले, निकाल लिए 3 लाख

ग्रेटर नोएडा को दिवाली पर मिलेगा मेट्रो का तोहफा, दिल्ली-NCR के यात्रियों को होगा फायदा

Jet Airways का बड़ा ऑफर, 15 अगस्त को टिकट बुक करने पर मिलेगी इतनी छूट

Related Stories